X
 

International Yoga Day 2021: जानें 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है योग दिवस

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021: दुनिया भर के योग प्रेमी हर 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रुप में मनाते हैं। स्वास्थ्य के लिए योग के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए आमतौर पर योग प्रेमियों द्वारा दुनिया के विभिन्न हिस्सों में कार्यक्रमों की एक श्रृंखला आयोजित की जाती है। आज इस पोस्ट में हम बताने वाले हैं की अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत किसने और कब की? आखिर 21 जून को ही अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस क्यों मनाया जाता है? अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को विश्व योग दिवस या International Yoga Day भी कहा जाता है। 

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day)

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस क्या है? (What is International Yoga Day)

योग‘ एक विशेष प्रकार का शारीरिक और मानसिक व्यायाम है। यह भी साधना की एक विधि है। प्राचीन भारत की यह प्रथा अब भारत समेत दुनिया के कई देशों में बड़े पैमाने पर चलन में है। यह खेल गतिविधियों में से एक है जो शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद साबित होता है। बहुत से लोग इस शरीर और मन के व्यायाम को एकाग्रता, ध्यान, लचीलेपन और श्वास को बेहतर बनाने के लिए करते हैं। 

सोमवार (21 जून) को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) है। यह दिन भारत समेत दुनिया के करीब 200 देशों में सांतवे बार मनाया जा रहा है। इस दिन पूरी दुनिया में लोग बाहरी और आंतरिक दोनों को एक करने के विश्वास में योग के प्रति अपनी एकजुटता व्यक्त करते हैं। इस दिन के अवसर पर हर साल देश में विभिन्न शिविरों, कार्यशालाओं, प्रशिक्षणों आदि का आयोजन किया जाता है।

21 जून को ही क्यों अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है?

21 जून को ही भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत की गई थी। उन्होंने कहा कि योग भारतीय परंपरा का सबसे सुंदर उपहार है जिसका गहरा संदेश है। उनमें से एक आंतरिक शांति और प्रकृति के साथ सद्भाव के लिए है। इसी वजह से 21 जून को ही अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है।

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 26 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र को संबोधित करते हुए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के महत्व पर प्रकाश डाला। भारत सहित दुनिया के 190 देश इस दिन को योग दिवस के रूप में मनाने का समर्थन किया। परिणामस्वरूप, संयुक्त राष्ट्र के अंतरराष्ट्रीय निकाय की 11 दिसंबर, 2015 को हुई बैठक में भारी बहुमत से “अंतरराष्ट्रीय योग दिवस” का प्रस्ताव पारित किया गया और आधिकारिक तौर पर 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में घोषित किया गया। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2016 से न केवल भारत में बल्कि दुनिया के कई देशों में उत्साह के साथ मनाया जाता रहा है। 

योग मूल रूप से भारत की विरासत है। योग भारत में शुरू हुआ था, लेकिन आज यह दुनिया के हर देश में पहुंच गया है। भारत में स्वस्थ रहने के लिए लगभग 5000 वर्षों से योग का अभ्यास किया जाता है, योग को मानसिक, शारीरिक और आध्यात्मिक पद्धति के रूप में मान्यता प्राप्त है और यह हमारे देश के लोगों की जीवन शैली का एक हिस्सा है।

किस अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया?

योग गुरु बाबा रामदेव और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने 21 जून, 2018 को राजस्थान के कोटा में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सबसे बड़े योग सत्र के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया।

किस वेद में योग के बारे में उल्लेख मिलता है?

ऋग्वेद में योग के बारे में उल्लेख मिलता है। और उपनिषदों में भी इसका उल्लेख किया गया है। माना जाता है की यह प्राचीन भारत के तपस्वी और श्रमण आंदोलनों में 5 वीं और 6 वीं शताब्दी ईसा पूर्व के आसपास एक व्यवस्थित अध्ययन के रूप में विकसित हुआ है।

भारत में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) का उत्सव किस मंत्रालय द्वारा आयोजित किया जाता है?

आयुष मंत्रालय द्वारा भारत में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उत्सव का आयोजन किया जाता है।

योग के पिता के रूप में कौन जाना जाता है?

भगवान शिव को योग के जनक या योग के पिता के रूप में जाना जाता है। योगी संस्कृति में भगवान शिव को आदियोगी (प्रथम योगी) के रूप में माना जाता है।

Father of Modern Yoga के रूप में किसे जाना जाता है?

तिरुमलाई कृष्णमाचार्य एक भारतीय योग गुरु, आयुर्वेदिक चिकित्सक और विद्वान थे। जिन्हें अक्सर “Father of Modern Yoga” के रूप में जाना जाता है।

योग का जन्मदाता देश कौन है?

योग का जन्मदाता देश भारत है।

योग शब्द की उत्पति कैसे हुई?

योग शब्द की उत्पत्ति संस्कृति के शब्द युज (YUJ) से हुई है। जिसमें Y का मतलब है YOK यानि मिलना, J का मतलब है Join यानी जुड़ना तथा U का मतलब है Unite यानी एक साथ। इस तरह योग का शाब्दिक अर्थ आत्मज्ञान और सभी तरह की शारीरिक परेशानियों से पार पाना है।

ये भी पढ़ें:

अन्तिम शब्द,

आज इस पोस्ट में मैंने आपको अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day -2021) के बारे में बताया. साथ ही मैंने बताया की 21 जून को ही क्यों विश्व योग दिवस मनाया जाता है. आशा करता हूँ की आपको यह जानकारी पसंद आई होगी. यदि आपको इस पोस्ट से मदद मिली हो तो इस अन्य लोगों के साथ भी शेयर करें. यदि आपके पास विश्व योग दिवस से जुदा कोई सवाल है तो हमें कमेंट कर्क बताएं.

Share on:
Author: Amresh Mishra
I am Amresh Mishra, owner of My Technical Hindi Website. I am a B.Sc graduate degree holder and 21yrs old young entrepreneur from the City of Patna. By profession, I'm a web designer, computer teacher, google webmaster and SEO optimizer. I have deep knowledge of Google AdSense and I am interested in Blogging.

Leave a Comment