ATM Full Form in Hindi | ATM का full form क्या है? | What is ATM in Hindi

-- विज्ञापन --

ATM Full Form: आज के समय में ऐसा कोई नहीं है जिसे ATM के बारे में पता न हो, लेकीन क्या आप जानते हैं की ATM ka Full Form क्या है? आज लगभग हर इंसान ATM का इस्तेमाल करता है। ATM ही है जिसने banking सेवा  को इतना आसान कर दिया है, कि जिसके कारन लोगो को बैंक जाकर घंटो का इंतज़ार करना नहीं पड़ता है।

-- विज्ञापन --

सबसे खास बात तो ये है की आजकल ग्रामीण क्षेत्र में भी ATM machine लगवाए जा रहे है और अब धीरे धीरे एटीएम देश के कोने कोने तक पहुंच रहे  है। जिससे आप न सिर्फ पैसे निकाल सकते है बल्कि पैसे transfer अथवा पैसे जमा भी कर सकते है और जिस  ATM ने banking sectore में इतना बड़ा बदलाव ला दिया बहुत से लोगों को उस ATM का फुल फॉर्म क्या है ये पता नहीं होता। 

तो दोस्तों इस post में मैं आपको ATM ka full form kya hai, ATM क्या है,  ATM के क्या क्या फायदे है, और एटीएम का इतिहास क्या है इसके बारे में बताने वाला हूं। तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ें। आइए सबसे पहले जानते हैं की ATM का Full Form क्या होता है? (What is the Full Form of ATM in Hindi)?

ATM का फुल फॉर्म क्या है
-- विज्ञापन --

ATM का full form क्या है? (What is ATM Full Form in Hindi)

ATM का full form होता है, “Automated Teller Machine“. इसे हिंदी में “स्वचालित गणक यंत्र” कहा जाता है, जिसका मतलब होता है की ये खुद अपने अनुसार गणना करता है।

कुछ लोग ATM का Full Form, Any time money भी कहते है जो की गलत है। आपको बता दें को ATM को भारत में सबसे पहले 1987 में शुरु किया गया था, तब से लेकर अभी तक ATM में कई सारी सुविधा जुड़ चुकी है।

आइए अब जानते हैं ATM के कुछ और फुल फॉर्म के बारे में जो नीचे दिए गए हैं।

  • Air Traffic Management (विमानन के संदर्भ में)
  • -- विज्ञापन --
  • Asynchronous Transfer Mode (I.T. Sector) यह एक telecommunication concept है जिसे ANSI और ITU द्वारा परिभाषित किया गया है।
  • Association of Teachers of Mathematics (यह एक non profitable संगठन है जो की UK में स्थित है।)
  • Angkatan Tentera Malaysia (Malaysian Armed Forces)
  • Altamira Airport यह एक हवाई अड्डा है जो Altamira, Brazil में स्थित है।

ATM का पूरा नाम क्या है? [ATM Full Form]

आइए अब जानते हैं ATM का पूरा नाम क्या है:-

  • A – Automated (स्वचालित)
  • T – Teller (टेलर)
  • M – Machine (मशीन)

ATM क्या है? (What is ATM in Hindi)

ATM एक electronic machine है जिसका इस्तेमाल करके user बैंकिंग संबधित कार्य जैसे पैसो की निकासी, पैसो को bank account में जमा करना, पैसो को transfer करना, cheque बुक के apply करना, जैसे बहुत सारी सुविधा का फायदा उठा सकता है, जो सिर्फ bank के customer के लिए ही होता है। इससे बैंकिंग प्रक्रिया बहुत आसान हो जाती है क्योंकि ये मशीनें स्वचालित होती हैं और बैंक कर्मचारियों के साथ सीधे सम्पर्क करने की आवश्यकता नहीं होती है।

User अपने खातों को एक विशेष प्रकार के प्लास्टिक कार्ड जिसे ATM Card बोला जाता है, के माध्यम से एक्सेस करते हैं, इस कार्ड के ऊपर एक Magnetic stripe पर User की जानकारी Encoded होती है। Stripe में एक identification code होता है जो Modem द्वारा बैंक के central computer को भेजा जाता है। User अपने खातों तक पहुंचने और अपने खातों में लेनदेन की प्रक्रिया के लिए ATM Machine में Card का उपयोग करते हैं।

ATM का अविष्कार John Shepherd-Barron ने 1960 में किया था। ATM का प्रयोग सबसे पहले लन्दन के बार्केले बैंक ने 1967 में किया था।

ATM के कौन कौन से भाग हैं?

ATM में दो प्रकार के Device होते हैं जो User को इस्तेमाल करने में कार्य को आसान बनाते हैं। वह हैं, 

1. इनपुट डिवाइस (Input Device)

2. आउटपुट डिवाइस (Output Device)

इनपुट डिवाइस (Input Device)

इस श्रेणी में ATM के ऐसे Parts आते हैं जिसके माध्यम से ATM Machine को आदेश दिया जाता है। ये Parts हैं,

Card Reader: – Card Reader एटीएम कार्ड के पीछे चुंबकीय पट्टी में संग्रहीत Data को पढ़ता है और इसे Verification के लिए सर्वर पर भेजता है। उसके बाद उस Data के अनुसार आपके बैंक खाते से Connect करता है।

Key Pad: – कीपैड के माध्यम से आप पिन, आप कितना पैसा निकालना चाहते हैं और अन्य सुविधाएं जैसे – cancel, clear, enter आदि एंटर करते हैं।

आउटपुट डिवाइस (Output device)

ATM का Output Device ऐसा डिवाइस होता है जिसके माध्यम से हमें Result प्राप्त होता है। इसमें निम्नलिखित Parts शामिल हैं।

Screen: – खाता जानकारी (खाता धारक का नाम, उपलब्ध शेष राशि, आदि) और आपके लेनदेन को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए आवश्यक कार्यों को प्रदर्शित करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।

-- विज्ञापन --

Speaker:- अधिकांश एटीएम में स्पीकर उपलब्ध होते है। जब आप कोई लेन-देन करते हैं तो यह ऑडियो फीडबैक प्रदान करने के लिए प्रदान किया जाता है।

Cash dispenser :- यह एटीएम के सबसे महत्वपूर्ण आउटपुट डिवाइस में से एक है। इसका उपयोग Cash प्रदान करने के लिए किया जाता है।

Receipt Printer :- यह आपके लेन-देन से संबंधित एक रसीद प्रदान करता है जिसमें ली गई राशि, शेष राशि, तिथि, समय, स्थान आदि शामिल होते हैं।

ATM के क्या क्या फायदे हैं? (What is the Benefits of ATM in Hindi)

इसमें कोई सक नहीं है नहीं ATM machine से लोगो को बहुत ज्यादा फ़ायदा मिला है और एक ATM machine से सिर्फ पैसा निकला नहीं जाता है 

बल्कि एटीएम के जरिये बैंक अपने customer बहुत सारी सुविधा लोगो को प्रदान करता है जिनको जानना बहुत ज्यादा जरूरी है 

ATM की 24 घंटे सेवा उपलब्ध रहती है

ATM जो की 24 घंटे तक खुला रहता है यानि आप जब चाहे तब इसका प्रयोग कर सकते है जिसके कारण लोगो को बैंको में लम्बी लाइनों में लगने की जरुरत नहीं है।

Online payment

ATM Card से सभी तरह के online payment किये जा सकते है फिर चाहे वो पैसे ट्रांसफर हो या insurance भरना।

Internet Banking सेवा का इस्तेमाल

आपको पता होना चाहिए की ATM Card से ही आपकी Internet Banking सेवा शुरू होती है। ATM Card प्रयोग करके इंटरनेट बैंकिंग सेवा का लाभ उठा सकते है जैसे cheque book के लिए आवेदन, मोबाइल बैंकिंग रेजिस्ट्रेशन जैसी सभी चीजे कर सकते है। आप यह सुविधा अपने मोबाइल फोन पर या ATM Machine से ले सकते हैं।

Mobile recharge

ATM Card के इस्तेमाल करके आप अपने मोबाइल फ़ोन का रिचार्ज भी कर सकते है।

Money transfer

ATM का इस्तेमाल करके आप किसी भी बैंक खाते में पैसो को भेज  कर सकते है।

Money deposit

आप ATM Machine के जरिये अपने बैंक खाते में पैसो को जमा भी कर सकते है।

ATM pin change

सबसे खास बात तो ये है की अगर आप 4 digit का pin चेंज करना चाहते है तो आप उसे ATM Machine से बहुत आसानी से बदल सकते हो।

-- विज्ञापन --

और अगर आप ATM pin भूल गए है तो उसे भी ATM के जरिये reset किया जा सकता है।

ATM कैसे काम करता है?

ATM क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है ये तो लगभग हर कोई जनता है और ये सब आजकल आम बात हो गयी है। पर जानने वाली बात तो ये है की आखिर ये ATM Machine काम कैसे करती है और इसमें पीछे कौन कौन सी चीजे काम करती है।

ATM Machine इंटरनेट से जुडी हुई रहती है साथ ही साथ इंटरनेट के जरिये एटीएम बैंक server से जुड़ा हुआ रहता है और जब ATM card को एटीएम मशीन के card reader slot में डालते है तो एटीएम मशीन कार्ड को read करना शुरु कर देती है।

जिसके लिए हमारे ATM card में Magnetic Stripe या chip लगी हुई रहती है जिसमे हमारे अकाउंट से जुड़े सभी information रहती है। ATM अपने Server से संपर्क करती है और आपके Input के अनुसार आपका ATM pin मांगा जाता है और फिर ATM उस card से जुडी सभी information Server को भेजता है। इसके बाद Server आपके Bank से सम्पर्क करती है। सबकुछ सही होने की स्थिति में एटीएम द्वारा transaction को complete कर दिया जाता है। यह पूरी प्रक्रिया बहुत ही जल्दी पूरा कर दिया जाता है।

ये भी पढ़ें:

अंतिम शब्द,

आज इस पोस्ट में मैने आपको ATM Full Form in Hindi के बारे में बताया। आशा करता हूं की आपके मन में ATM का Full Form तथा ATM क्या है (What is ATM in Hindi), से जुडी सारी Doubt क्लियर हो गई होगी। यदि आपके मन में अभी भी कोई सवाल है तो आप कमेंट करके पूछ सकते है। यदि आपके लिए यह जानकारी हेल्पफुल हो तो इसे अन्य लोगों के साथ भी जरूर शेयर करें।

-- विज्ञापन --
Share on:

Leave a Comment