Information Technology Kya Hai? Course, fees, job, carrier

-- विज्ञापन --

आप में से बहुत से लोगों ने IT Sector का नाम सुना होगा। लेकिन क्या आपने कभी यह विचार किया है कि IT क्या है? आईटी का क्या अर्थ है? Information technology Kya Hai? ये ऐसे सवाल हैं जिनका जवाब जानना आपके लिए बहुत आवश्यक है।

-- विज्ञापन --

IT का पूरा नाम है “Information Technology“, जिसका हिंदी में सूचना प्रोद्योगिकी भी कहा जाता है। आज Technology की वजह से हमारे जिंदगी में जो भी बदलाव हो रहे हैं वह सब Information Technology का ही भाग है। हर दिन नई जानकारी लोगों के जीवन में एकत्रित हो रही है।

नतीजतन, Information की मात्रा तेजी से बढ़ रही है। जैसे-जैसे जीवन के विभिन्न पहलुओं में लोगों की सक्रिय भागीदारी तेजी से बढ़ती है, सही समय पर उचित जानकारी प्राप्त करने का महत्व बढ़ रहा है। क्योंकि, लोगों के लिए यह संभव नहीं है कि वे अपनी सारी Information याद रखें या प्राप्त करें।

इसके लिए अच्छे Communication की आवश्यकता होती है, जिसके माध्यम से जानकारी आसानी से और जल्दी प्राप्त होती है।

ये भी पढे:- Vodaphone Balance ko Check Kaise Kare

हम अपने दैनिक जीवन में विभिन्न Information Technology (IT) का उपयोग करके अपना कीमती समय बचाने में सक्षम हैं। Information technology कई और लाभों के साथ हमारे काम में तेजी ला रही है।

आज इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं कि Information Technology kya hai या IT क्या है और यह क्यों महत्वपूर्ण है? IT Sector में करियर कैसे बनाएं? इसके पढ़ाई में कितने पैसे लगते हैं? आदि। तो चलिए सबसे पहले यह जान लेते हैं कि IT क्या होता है?

Information Technology Kya Hai (What is Information Technology in Hindi)

Information Technology (IT) किसी भी Information के प्रबंधन और वितरण के लिए Computer System, Software और Network के विकास, रखरखाव और उपयोग से संबंधित Technology है। सूचना प्रौद्योगिकी हमें नवीनतम समाचारों को एक्सेस करने, वास्तविक समय में लोगों से बात करने, Video Chatting, E-learning, E-commerce और Social Networking की अनुमति देती है।

सूचना प्रौद्योगिकी एक अंतर्निहित तकनीक है जिसके माध्यम से छोटी से छोटी समाचार या घटनाओं से शुरू होने वाली सभी प्रकार की आवश्यक जानकारी जैसे काम की गति को बढ़ाने में एक बड़ी भूमिका निभा रही है।

इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों, विशेष रूप से PC या Computers का परीक्षण या उपयोग करना, विभिन्न प्रकार की Information को Store करना, Data Management आदि सब Information Technology में शामिल हैं।

आज आप शायद ही ऐसी कंपनी देखेंगे जहां Computer का इस्तेमाल नहीं होता है। कंपनी की कार्य को संभालने के लिए अब हर कंपनी में कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है। इसी वजह से हर कंपनी में Computer से जुडी Job की Vacancies आती रहती है। यदि आपको Information Technology का Knowledge है तो आप भी वहां Job पा सकते हैं।

ये भी पढे:- DH Creator Kya Hai

Information Technology (IT) का उपयोग

Information Technology के बिना आज लगभग हर काम अधूरा सा है। शायद ही कोई ऐसा क्षेत्र है जहां पर Information Technology का इस्तेमाल न होता हो। यहां कुछ विशेष क्षेत्र के बारे में बताए गए हैं जहा IT का उपयोग होता है।

Business

आज लगभग सभी प्रकार के Business में Information Technology का बड़ा योगदान है। आज Computer के बिना किसी Business को संभालना मुश्किल हो गया है। कंप्यूटर के मदद से Business का हर तरह का Record रखा जाता है। आज की अधिकांश कंपनियां सूचना प्रौद्योगिकी(IT) का लगातार उपयोग करती हैं। उदाहरण के तौर पर यदि एक कपड़े की दुकान को लें तो उसके लिए भी एक वेबसाइट है जहां वह अपने Product की Data Management करता है और इसके अलावा, अपने Customers और Suppliers से संपर्क करने के लिए ईमेल का उपयोग करता है।

Banking

 Banking एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है जहां इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है। बैंकों में ग्राहकों के Accounts को Maintenance करने के लिए कंप्यूटर्स तथा अन्य Devices का प्रयोग किया जाता है जो IT का ही एक रूप है।

Education

Education के क्षेत्र में भी Information Technology की वजह से काफी बदलाव आए हैं, आज IT, पढ़ाई करने का भी एक विषय बन चुका है। जब बात करें Education के क्षेत्र मे IT के उपयोग की तो आज का Internet connection के माध्यम से Online Education सिर्फ IT के वजह से ही संभव हो पाया है। आज computer के माध्यम से जो नए नए शोध किए जा रहे हैं सब IT की ही देन है।

Campus और University में, एक कंप्यूटर का उपयोग विभिन्न प्रकार के Record रखने के लिए होता है। यहां हम कुछ विशेष क्षेत्र के बारे में बता रहे हैं जहां पर Information Technology का उपयोग होता है।

Networking

Networking और Telecommunication में भी Information Technology का बड़ा हाथ है। आप अपने फोन में जो Superfast Internet का इस्तेमाल कर रहे हैं, वह भी IT का ही एक विकाश है। Information technology के हो रहे विकाश के कारण ही हम घर बैठे दुनिया भर की खबरें प्राप्त कर सकते हैं और दुनिया के किसी भी कोने मे संपर्क बना सकते हैं।

-- विज्ञापन --

Entertainment

आज लोग घर बैठे ही Movies और Web Series का आनंद लेते हैं। Information technology की वजह से ही हमारे पास ये मनोरंजन के साधन उपलब्ध हुए। IT के विकाश के साथ ही Movies और Web Series आदि की Quality में काफी बदलाव आया है।

Security

जिस तरह Information Technology के लाभ हैं ठीक उसी तरह इसके कुछ नुकसान भी थे। शुरुआत में सूचना प्रौद्योगिकी ने बहुत से अनैतिक कृत्यों जैसे online fraud, scam आदि समस्याओं को जन्म दिया। इससे बचने के लिए Information Technology Security को बनाया गया। इससे किसी व्यक्ति का Data को Secure रखा जाता है और वह दूसरों के पहुंच से दूर होता है।

ये भी पढे:- Payzapp Wallet Kya Hai

Information Technology के विभिन्न घटक (Components of Information Technology)

 एक Information System हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर और दूरसंचार नेटवर्क का एक संयोजन है जिसे लोग उपयोगी डेटा एकत्र करने, बनाने और वितरित करने के लिए बनाते हैं। एक Information System (सूचना प्रणाली) का उद्देश्य उपयोगकर्ता को उचित जानकारी प्रदान करना है, डेटा इकट्ठा करना तथा Data Processing करना है। यहां हम Information Technology के मुख्य पांच घटक के बारे में बता रहे हैं।

  1. Computer hardware technology

  2. -- विज्ञापन --

 यह Information Technology का Physical Part है जिसे छुआ जा सकता है। इसमें Input Device, Output Device, ऑपरेटिंग सिस्टम, प्रोसेसर और मीडिया डिवाइस शामिल होते हैं। इसमें Computer peripheral equipment भी शामिल हैं।

2. Computer software technology

हार्डवेयर घटकों को नियंत्रित और समन्वय करने के लिए उपयोग किए जाने वाले प्रोग्राम/एप्लिकेशन प्रोग्राम Software कहलाते हैं। इसका उपयोग डेटा के विश्लेषण और प्रसंस्करण के लिए किया जाता है। कोइ भी Programme या Software आदेशों का एक समुह होता है।

जो Developers होते हैं वे Software बनाने के लिए निर्देशों का एक समूह तैयार करते हैं उसके बाद ही Software या Programme का निर्माण होता है। सॉफ्टवेयर को 3 प्रकारों में वर्गीकृत किया गया है:

  • System Software
  • Application Software
  • Procedures
  1. Telecommunications व network technology

यह घटक नेटवर्क बनाने के लिए हार्डवेयर को आपस में जोड़ता है। यह कनेक्शन wire के माध्यम से हो सकते हैं, जैसे कि ethernet cable या Fibre optic, या Wireless, जैसे कि Wifi के माध्यम से। यदी किसी Specific Location जैसे Office, School के सभी computers को आपस मे जोड़ना है, तो इसके लिए एक Local area network (LAN) Design किया जाता है। यदि कंप्यूटर अधिक बिखरे हुए हैं, तो नेटवर्क को एक Wide area network (WAN) बनाया जाता है। इंटरनेट ही नेटवर्क का एक नेटवर्क माना जा सकता है। नेटवर्क में नेटवर्क, कार्ड, राउटर, हब और केबल और सॉफ्टवेयर जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम, वेब सर्वर, डेटा सर्वर और एप्लिकेशन सर्वर जैसे Physical elements होते हैं।

4. Database technology

Information system के इस घटक के अंतर्गत अन्य घटकों से जुड़े Data निवास करते हैं। यह ऐसा स्थान है जहां data store होता है। जैसे आप कोइ सॉफ्टवेयर में अपना details enter की Entry करते हैं तो उस software से जुड़ा Data, Database में collect होगा। यह Data कई प्रकार का हो सकता है, जैसे document, file, worksheet आदि।

5. Human Resources

कोई भी Hardware या Software खुद कार्य नहीं कर सकते जब तक कोई human उन्हें Instruction न दे। अतः मानव भी उस Information system का एक घटक है। क्योंकी यह भी information system के लिए बहुत आवश्यक है।

ये भी पढे:- paypal account Kaise Banaye

IT Course क्या है?

IT Engineering एक विस्तृत क्षेत्र है जो एक बेहतर करियर की संभावनाएं प्रदान करता है। विभिन्न स्तरों पर इसकी Courses के बारे में विवरण इस प्रकार हैं।

-- विज्ञापन --

एक इच्छुक व्यक्ति 10 वीं कक्षा के बाद भी IT Engineering कर सकता है।

Diploma Courses

Polytechnic Diploma मुख्य रूप से एक Popular Course है जो एक छात्र को आधा इंजीनियर बनाता है। डिप्लोमा कोर्स आम तौर पर 3 साल की अवधि के लिए आयोजित किया जाता है और इस कोर्स के पूरा होने के बाद, छात्र सीधे Graduation के दूसरे वर्ष में Admission ले सकते हैं।

Diploma Course एक Candidate को Junior level की इंजीनियरिंग नौकरियों के लिए तैयार करता है। Diploma Course के लिए मैथ्स और साइंस वाले अभ्यर्थी न्यूनतम 50% अंक के साथ अपने मुख्य विषय के रूप में आवेदन कर सकते हैं।

Graduation Courses

Information Technology के अंतर्गत कम से कम 4 साल की अवधि के लिए छात्रों द्वारा अंडर-ग्रेजुएट कोर्स किया जा सकता है। अंडर ग्रेजुएट कोर्स पूरा होने के बाद, एक छात्र B.Tech/BE कहलायेगा।

आमतौर पर छात्र B.Tech डिग्री प्राप्त करने के बाद नौकरी करना पसंद करते हैं। Course का उद्देश्य छात्रों को उद्योग में काम करने के लिए तैयार करना है ताकि वे Graduation के दौरान हासिल किए गए skills को समझ सकें और लागू कर सकें।

Postgraduate courses

Information Technology के अंतर्गत कम से कम 2 साल की अवधि के लिए छात्रों द्वारा Postgraduate course उम्मीदवारों के Skills को चमकाता है। एक उम्मीदवार Post-graduate course से गुजरने के बाद M.Tech/ME (सूचना प्रौद्योगिकी) का certificate अर्जित करता है।

Doctoral courses

Doctoral degree एक ऐसा कदम है जिसमें 3 – 4 साल की अवधि के लिए रिसर्च किया जाता है।

Information technology subjects और courses

सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) इंजीनियरिंग के तहत कई subjects हैं जो एक candidate अपने courses में चुन सकता है। यहां वो सब्जेक्ट्स दिए गए हैं।

Data management and Analytics

यह subject, Data resources के डिजाइन, development और Administration से संबंधित है।

Embedded System

इस Subject के अंतर्गत कीसी बिजनेस और Industry के Privacy के लिए Smart technology का इस्तेमाल करना सिखाया जाता है।

Management information System (MIS)

इसमें Data का Management करना सिखाया जाता है।

Networking, Information and Communication Technology

इसमें Network से जुड़ी जानकारी दी जाती है।

-- विज्ञापन --

System analysis

जो लोग इस subject को चुनते हैं, वे Server के management के विशेषज्ञ बन जाते हैं।

Cyber, System and Network Security

अज्ञात Attack और Hacking की वजह से Organisasions में Data की सुरक्षा के लिए Management of information technology specialist की विशेष मांग है।

ये भी पढे:- Guest Post Kya Hai

Information technology entrance exam

Creamy layer screening के लिए entrance examinations एक प्रमुख विधि है जिसे बाद में भारत के Best engineering colleges में Admission मिलता है। यहां कुछ IT Entrance exam के बारे में बताया गया है।

Diploma Course के लिए

हर राज्य में Board of technical education (BTE) में Diploma courses के लिए अलग से Polytechnic entrance exam होती है। यहाँ Top Diploma Entrance Exam की सूची दी गई है:

  • Delhi CET
  • Haryana Diploma Entrance Test (DET)
  • Karnataka Diploma Common Entrance Test (DCET)
  • West Bengal JEXPO and VOCLET

Undergraduate courses के लिए

  • Joint Entrance Examination (JEE)
  • All India Engineering Entrance Examination (AIEEE)
  • Birla Institute of Technology and Science Admission Test (BITSAT)

postgraduate courses के लिए

postgraduate courses के लिए, विभिन्न संस्थान अपने नियमों के अनुसार विभिन्न entrance examinations आयोजित करते हैं। कुछ प्रमुख PG entrance examinations की सूची निम्नानुसार है:

  • GATE
  • AMIE (India) Exam
  • IPU CET MTECH 2018

Doctoral courses के लिए

-- विज्ञापन --

Doctoral course के लिए भी, विभिन्न संस्थान अपने नियमों के अनुसार विभिन्न entrance examinations आयोजित करते हैं। Doctoral courses के लिए निम्नलखित entrance examination की सबसे अधिक मांग की गई हैं:

  • Science and Technology Thiruvananthapuram
  • Indian Institute of Science (IIS)
  • Centre of Behavioral and Cognitive Sciences (CBCS),
  • University of Allahabad PhD Entrance Exam
  • CSIR / UGC / NBHM / DBT

सूचना प्रौद्योगिकी(IT) में नौकरी के अवसर

  • Network Administrator
  • Information Technology Manager
  • Computer Support Specialist
  • Data Security Administrator
  • Computer Technician
  • Database Administrator
  • Information Systems Manager
  • System Administrator
  • Computer Support Specialist
  • Information Technology Recruiter
  • Process Manager

Information Technology से होने वाले कुछ मुख्य फायदे

  • इनफार्मेशन तक के विकास ने Communication को Fast और आसान बना दिया है। अतीत में, अन्य लोगों को संदेश प्राप्त करने या भेजने में बहुत लंबा समय लगता था। अब, कम्यूनिकेशन के रूप में Internet पर संचार बहुत आसानी से और जल्दी से किया जा सकता है। एक Fast Internet connection के माध्यम से, हम E-mail, Video conferencing के माध्यम से बातचीत कर सकते हैं।
  • संचार करने में सुविधा प्रदान करने के अलावा, इंटरनेट की उपस्थिति से Information को एक्सेस करना भी आसान हो जाता है। अब किसी भी खबरों तक आसानी से पहुंचा जा सकता है। इस वजह से हमारे पास ज्ञान का भी विकास होता है।
  • व्यापार की दुनिया में, व्यापार बड़ी संख्या में लोगों को विभिन्न प्रकार की वस्तुओं का आदान-प्रदान, खरीद और बिक्री करने की गतिविधि है जिसमें एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाना शामिल है। संचार और सूचना प्रौद्योगिकी के अस्तित्व से पहले, वस्तुओं का विनिमय या विनिमय करके व्यापार किया जाता था।
  • संचार और सूचना प्रौद्योगिकी के विकास के साथ-साथ अब इलेक्ट्रॉनिक या ई-कॉमर्स से व्यापार किया जा सकता है। ई-कॉमर्स अर्थव्यवस्था में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि इसमें एक ट्रेडिंग प्रक्रिया होती है जो Customers को ऑनलाइन Products को खोजने और खरीदने की अनुमति देती है।
  • Online Training के संबंध में, लेनदेन प्रक्रिया अब ऑनलाइन की जा सकती है। इसमें Banking system भी होती हैं। Information technology के विकास से पहले, Banking system को मैन्युअल रूप से किया गया था। इसके अलावा, लेनदेन केवल Working hours के दौरान किया जा सकता है। Information technology की उपस्थिति ने Banking system को और अधिक Advance बना दिया है। अब लेन-देन की प्रक्रिया 24 घंटे, कभी भी और कहीं भी की जा सकती है।
  • नई संचार और सूचना प्रौद्योगिकियों का उपयोग न केवल आर्थिक क्षेत्र में बल्कि शिक्षा के क्षेत्र में भी किया जाता है। वर्तमान में, विभिन्न कंप्यूटर और इंटरनेट आधारित शिक्षा का उपयोग किया जा रहा है। शिक्षण गतिविधियाँ अब केवल कक्षाओं में ही नहीं होती हैं, बल्कि ऑनलाइन की जा सकती हैं। शिक्षा में संचार और सूचना प्रौद्योगिकी के इस तरह के उपयोग को आमतौर पर ई-लर्निंग के रूप में जाना जाता है।

ये भी पढे:- Content Writing Jobs in Hindi

Conclusion – Information Technology Kya Hai

आज इस पोस्ट में मैंने बताया IT क्या है, आपने यहां Information Technology के बारे में विस्तार से जाना। यदि आपको इस सूचना प्रोद्योगिकी से जुड़ा कोई सवाल पूछना है तो आप हमें कॉमेंट करके बता सकते हैं। यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे सोशल नेटवर्क पर जरूर शेयर करें।

-- विज्ञापन --
Share on:

Leave a Comment