ITI Full Form in Hindi | आईटीआई का फुल फॉर्म क्या है?

-- विज्ञापन --

ITI Full Form: आज इस पोस्ट में हम बताने वाले हैं की आईटीआई का फुल फॉर्म क्या है? (ITI Full Form in Hindi). साथ ही हम आपको बताएंगे की ITI क्या है? आईटीआई का पूरा नाम क्या है?, ITI क्यों किया जाता है?, ITI करने के क्या फायदे हैं? ITI कौन कर सकता है? ITI करने के बाद आपको किस तरह का काम मिल सकता है आदि।

-- विज्ञापन --

क्या आप जानना चाहते हैं की ITI ka Full Form क्या होता है? बहुत से लोग ITI और IIT को देखकर कंफ्यूज रहते हैं। वे दोनों को एक जैसे समझ लेते हैं। असल में उन्हें यह नहीं पता होता है की दोनों में क्या अंतर है? लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे कि जब Professional Training Course की बात आती है तो “आईटीआई” का नाम सबसे पहले आता है। आइए अब हम ITI Full Form in Hindi के बारे में जानते हैं।

ITI का फुल फॉर्म, ITI Full Form in Hindi, ITI ka Full Form
ITI Full Form in Hindi
विषय-सूची show

ITI का  Full Form क्या है? ( ITI Full Form in Hindi) | ITI ka Full Form in Hindi

ITI का फुल फॉर्म है – Industrial Training Instute. हिंदी में इसे औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कहते हैं. हालांकि कई लोग इसे “जूनियर पॉलिटेक्निक संस्थान” कहते हैं।

आई टी आई एक प्रकार का शिक्षण संस्थान है जहां छात्रों को उद्योग (Industry) के अनुसार शिक्षित किया जाता है ताकि वे पाठ्यक्रम पूरा होते ही कला के लिए तैयार हो जाएं। इसमें उन्हें Theory से अधिक व्यावहारिक ज्ञान दिया जाता है ताकि वे अच्छे से काम कर सके।

ITI Full FormIndustrial Training Institute
Age Limitकम से कम 14 वर्ष, अधिकतम 40 वर्ष
Course Durationएक से दो साल
Available Courses80+ इंजीनियरिंग अथवा 50+ नॉन- इंजीनियरिंग कोर्स
Eligibilityकम से कम 45% प्राप्तक के साथ दसवीं पास
Fees अलग अलग कोर्सेस के हिसाब से अलग अलग शुल्क निर्धारित हैं
Official Websiteअलग अलग राज्यों के हिसाब से अलग अलग
-- विज्ञापन --
-- विज्ञापन --

आईटीआई का पूरा नाम क्या है? Full Form of ITI in Hindi

आईटीआई का पूरा नाम Industrial Training Institute है. हिंदी में इसे औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान या इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट कहा जाता है. यह एक सरकारी प्रशिक्षण संगठन है जो हाई स्कूल के छात्रों को उद्योग से संबंधित शिक्षा प्रदान करती है.

ITI का गठन भारत सरकार के श्रम और रोजगार मंत्रालय के प्रशिक्षण महानिदेशालय (DGET) के तहत किया गया है. ऐसे संस्थान में वैसे छात्रों को Technical जानकारी दी जाती है जिन्होंने हाल ही में दसवीं पास को हो तथा वे कुछ Technical Knowledge प्राप्त करना चाहते हों. हालांकि कुछ कोर्स ऐसे हैं जिन्हें आंठ्वी पास विद्यार्थी भी कर सकते हैं.

भारत में दो तरीके से ITI Course करवाए जाते हैं, सरकारी अथवा प्राइवेट. ट्रेनिंग पूरी करने के बाद छात्रों को National Trade Certificate (NTC) दिया जाता है.

I = Industrial

T = Traning

I = Institute

हिंदी में आईटीआई का फुल फॉर्म “औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान” होता है।

ITI कोर्स करने में कितना समय लगता है? (Duration of ITI Course in Hindi)

ITI में अलग अलग Trade के अनुसार कोर्स कराये जाते हैं. सामान्य तौर पर ITI Course की अवधि 6 महीने से लेकर 2 साल तक चलती है. यह इस बात पर निर्भर करता है की छात्र कौन से Trade का चयन करते हैं. यदि वे 2 साल वाले कोर्स का चयन करते हैं तो उनका ITI Course चार सेमेस्टर में पूरी होगी.

ITI में क्या पढ़ाया जाता है?

ITI थ्योरी नॉलेज की तुलना में प्रैक्टिकल नॉलेज पर ज्यादा जोर देता है। आईटीआई कोर्स का मुख्य लक्ष्य होता है की विद्यार्थियों को काम करने के लायक बनाया जाय. उन्हें ऐसी शिक्षा दी जाती है ताकि वे Industry को मैनेज कर सकें. ITI का मुख्या उद्देश्य छात्रों के अन्दर तेजी से हो रहे तकनीकी बदलाओं से अवगत कराना तथा उनके अन्दर Technical Skills डेवलप करना है.

ITI में एडमिशन के लिए कौन से डाक्यूमेंट्स आवश्यक हैं?

ITI में Admission के लिए आवश्यक दस्तावेज नीचे दिए गए हैं –

  • आठवीं/दसवीं/बारहवीं की Marks Sheet और Certificate
  • -- विज्ञापन --
  • Entrance Certificate (यदि आपने Entrance Exam पास की है)
  • Merit List
  • Migration सर्टिफिकेट
  • आवासीय प्रमाण पत्र
  • Category Certificate (जहां लागू हो)
  • Identity Proof जैसे – वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि।
  • निर्देशानुसार अन्य संबंधित दस्तावेज।

ITI Official Website | आईटीआई ऑफिसियल वेबसाइट

यहाँ पर प्रत्येक राज्यों के अनुसार ITI Official Website की सूची दी गई है.

बिहार  उत्तर प्रदेश (यूपी) 
हिमाचल प्रदेशहरियाणा
झारखंड  मध्य प्रदेश (एमपी)
छत्तीसगढराजस्थान
उत्तराखंडत्रिपुरा
गुजरातअसम
मेघालय दिल्ली  
चंडीगढ़केरल
दादरा और नगर हवेली  आंध्र प्रदेश
अरुणाचल प्रदेशदमन और दीव
कर्नाटक  लक्षद्वीप
महाराष्ट्रमणिपुर
तेलंगानापंजाब
पश्चिम बंगालजम्मू और कश्मीर
मिजोरमतमिलनाडु
-- विज्ञापन --

ITI करने के बाद एक व्यक्ति को नौकरी में कितना वेतन मिलता है?

सैलरी की बात करें तो ITI पास करने वाले को शुरुआत में 10 से 15 हजार तक सैलरी मिलती है। हालांकि, यह सही नहीं है क्योंकि यह ट्रेड पर भी निर्भर करता है और उस जगह पर निर्जभर करता है जहाँ काम किया जाता है. यह ट्रेड और जगह तय करते हैं की कैडेट को कितना भुगतान किया जाएगा। साथ ही, जितना अधिक आप अनुभव प्कराप्रत ते हैं, उतना ही आपको अधिक वेतन मिलता है।

ITI में कितने तरह के कोर्स होते हैं? | Types of Courses in ITI

ITI में मुख्य रूप से दो तरह के कोर्स होते हैं इंजीनियरिंग अतवा गैर इंजीनियरिंग. इनमें से कुछ कोर्स हैं जो दसवीं के बाद किये जा सकते हैं तथा कुछ आठवीं के बाद किये जा सकते हैं. यहाँ हम प्रत्येक कोर्सेज के बारे में बता रहे हैं. साथ ही हम बताएँगे की उस कोर्स की अवधि क्या है.

10th के बाद किये जाने वाले ITI Courses

यहाँ वैसे कोर्स का नाम दिया गया है जिसे आप दसवीं के बाद कर सकते हैं.

कोर्स का नामस्ट्रीमअवधि
Tool & Die Maker इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग3 वर्ष
Draughtsman (Mechanical) इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Diesel Mechanic इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग1 वर्ष
Draughtsman (Civil) इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Pump Operatorइंजीनियरिंग1 वर्ष
Fitter इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Motor Driving-cum-Mechanic इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग1 वर्ष
Turner इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Dress Makingगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Manufacture Foot Wearगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Information Technology & E.S.M. इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Secretarial Practiceगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Machinist इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग1 वर्ष
Hair & Skin Careगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Refrigeration इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Fruit & Vegetable Processingगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Mech. Instrument इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Bleaching & Dyeing Calico Printगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Electrician इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Letter Press Machine Menderगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Commercial Artगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Leather Goods Makerगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Mechanic Motor Vehicle इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Hand Compositorगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Mechanic Radio & T.V. इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Mechanic Electronics इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Surveyor इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Foundry Man इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग1 वर्ष
Sheet Metal Worker इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग1 वर्ष

8th के बाद किये जाने वाले ITI Courses

यहाँ वैसे कोर्स दिए गए हैं जिन्हें आप आंठ्वी के बाद कर सकते हैं.

Course का नामस्ट्रीमअवधि
Weaving of Fancy Fabricगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Wireman इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Cutting & Sewingगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Pattern Maker इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग2 वर्ष
Plumber इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग1 वर्ष
Welder (Gas & Electric) इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग1 वर्ष
Book Binderगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Carpenter इंजीनियरिंगइंजीनियरिंग1 वर्ष
Embroidery & Needle Workerगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष
Mechanic Tractorगैर-इंजीनियरिंग1 वर्ष

ITI में Admission कैसे लें?

ITI में Admission के लिए आवेदन करने के दो तरीके हैं, ऑनलाइन और ऑफलाइन। आप ऊपर दिए गए सभी राज्यों में से अपने राज्य के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए समय समय पर Notification आता रहता है. आपको राज्य सरकार द्वारा जारी Notification में जब तक Date रहेगा उतने दिनों के भीतर आवश्यक Documents के साथ ऑनलाइन फॉर्म भरकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

फिर Merit List सरकार द्वारा निर्धारित समय पर प्रकाशित की जाएगी और उस मेरिट लिस्ट के अनुसार आपको अपनी पसंद के Institute में ITI Courses के लिए Admission दिया जा सकता है।

आप आईटीआई कोर्स में ऑफलाइन भी Admission ले सकते हैं। विभिन्न संस्थान आईटीआई में प्रवेश के लिए Notification जारी करते हैं। कई सीधे Admission लेते हैं, कई परीक्षा के माध्यम से Admission लेते हैं। आप इन संस्थानों से प्रवेश पत्र ले सकते हैं, आवश्यक दस्तावेजों की प्रति और अपनी पसंद के ट्रेड के साथ Admission Form भर सकते हैं और उस संस्थान में जमा कर सकते हैं। संस्थान द्वारा किसी विशेष दिन मेरिट लिस्ट दी जाती है और यदि आपका नाम उस सूची में है, तो आप सीधे उस संस्थान में एडमिशन ले सकते हैं।

-- विज्ञापन --

ITI करने के क्या फायदे हैं? | Benefits of ITI in Hindi

ITI Course करने के निम्नलिखित फायदे हैं:

  • ITI Course में Theory के मुकाबले Practical Training अधिक दी जाती है ताकि छात्रों को अच्छे से समझ आये.
  • ITI आप दसवीं के बाद भी कर सकते हैं और आंठ्वीं के बाद भी.
  • आईटीआई करने के लिए किसी तरह की कोई किताबी ज्ञान की आवश्यकता नहीं है.
  • आईटीआई करने के लिए Government College में कोई फीस नहीं ली जाती, आप वहां फ्री में ही आईटीआई कोर्स कर सकते हैं.

ITI से जुड़े अन्य सवाल जो अक्सर पूछर जाते हैं [FAQs]

ITI का Full Form क्या है? [Video]

-- विज्ञापन --

ये भी पढ़ें:

अन्तिम शब्द,

आज इस पोस्ट में मैंने ITI Full Form in Hindi के बारे में बताया. आशा करता हूँ आपको समझ आ गया होगा की आईटीआई का फुल फॉर्म क्या है? यदि आपके मन में आईटीआई से जुड़ा अभी भी कोई सवाल है तो हमें कमेंट करके बताएं. यदि आपको इस पोस्ट से मदद मिली हो तो इसे सोशल मीडिया पर अन्य लोगों के साथ भी जरुर शेयर करें.

-- विज्ञापन --
Share on:

6 thoughts on “ITI Full Form in Hindi | आईटीआई का फुल फॉर्म क्या है?”

  1. आपने ITI Full Form and ITI Courses इस विषय पर बहुत अच्छा आर्टिकल लिखा है इसके लिए आपको दिल से धन्यवाद्. आपका आर्टिकल इस विषय पर सम्पूर्ण और बेहतर जानकारी दे रहा है आगे भी ऐसे ही अच्छे आर्टिकल लिखते रहे.

    Reply
    • धन्यवाद अनिकेत! आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा यह सुनकर हमें ख़ुशी हुई. हम आपके लिए और भी अच्छे आर्टिकल लाते रहेंगे.

      Reply
  2. सर आपने बहुत अच्छी जानकारी शेयर की है है, आप इसी तरह की अच्छी अच्छी जानकारी लेकर आते रहे। धन्यवाद सर

    Reply

Leave a Comment