व्यक्तिवाचक संज्ञा क्या है | What Is Proper Noun

Author: Amresh Mishra | 1 वर्ष पहले

What Is Proper Noun : हिंदी भाषा सीखने और हिंदी व्याकरण सीखने में काफी अंतर होता है। हिंदी व्याकरण जो हिंदी भाषा में प्रयोग होने वाले सभी शब्दों के पीछे की एक नहीं तो किस पर होता है। हिंदी व्याकरण से ही हिंदी के सभी वाक्यों की रचना होती है। हिंदी व्याकरण में संज्ञा की एक महत्वपूर्ण भूमिका है और आज के इस आर्टिकल में हम आपको हिंदी व्याकरण की एक महत्वपूर्ण शाखा संज्ञा के प्रकार व्यक्तिवाचक संज्ञा, What Is Proper Noun, के बारे में डिटेल में जानकारी देने का प्रयास करेंगे आज के इस आर्टिकल में आपको व्यक्तिवाचक संज्ञा की परिभाषा उदाहरण और व्यक्तिवाचक संज्ञा के भेद के बारे में डिटेल में जानकारी मिलेगी।

What Is Proper Noun
What Is Proper Noun

व्यक्तिवाचक संज्ञा की परिभाषा | Definition Of Personal Noun

What Is Proper Noun : जिस शब्द से किसी विशेष व्यक्ति वस्तु स्थान का बोध हो उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं। यानी कि जिस संज्ञा शब्द से एक व्यक्ति वस्तु स्थान के नाम का बोध हो उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं व्यक्तिवाचक संज्ञा विशेष का बोध कराती है।

जब हमें पता चले कि यहां एक विशेष वस्तु की बात हो रही है या फिर विशेष व्यक्ति की बात हो रही है या विशेष जगह की बात हो रही है तो उस जगह व्यक्तिवाचक संज्ञा आती है।

व्यक्तिवाचक संज्ञा में व्यक्तियों, देशों, शहरों, नदियों, पर्वतों, त्योहारों, पुस्तकों, दिशाओं, समाचार पत्रों, दिनो,महीनों आदि के नाम आते हैं।

व्यक्तिवाचक संज्ञा के मुख्य उदाहरण

What Is Proper Noun : आयुष, भारत, गंगा, मंगलवार, दिपावली, तो यहां पर आप देख सकते हैं कि-

  • आयुष में व्यक्ति का नाम आ रहा है
  • भारत एक देश है
  • गंगा एक नदी है
  • मंगलवार दिन होते हैं, (सोमवार, मंगलवार, बुधवार)
  • और दिपावली त्यौहार है।

तो थोड़ा हम यहाँ व्यक्तिवाचक संज्ञा के बारे में विस्तार से बात करते हैं, तो यहां पर हम जान पाएंगे कि व्यक्तियों के नाम, दिशाओं के नाम, देशों के नाम, राष्ट्रीय जातियां, समुद्र, नदियां, पर्वत, गांव, नगर, पुस्तकों के नाम, समाचार पत्र ऐतिहासिक युद्ध और ऐतिहासिक घटनाएं, दिनों के नाम, महीनों के नाम, उत्सव एवं विभिन्न प्रकार के त्यौहार ये सभी व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आते हैं। तो आइए इनके कुछ उदाहरण देख लेते हैं-

आप अच्छी तरीके से समझ जाएंगे कि व्यक्तिवाचक संज्ञा होता क्या है, तो पहला उदाहरण हम देखते हैं। व्यक्तियों के नाम तो जितने भी व्यक्तियों के नाम होते हैं यह सभी व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आते हैं।
जैसे कि-

  1. रमेशचन्द्र
  2. सुरेश
  3. विजय
  4. भगत सिंह
  5. गांधीजी
  6. मोदी जी
  7. गजेन्द्र सिंह जी आदि।

इस तरीके के सभी प्रकार के शब्द व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आते हैं। अब दिशाओं के बारे में बात करें तो चार दिशाएं होती है-

  • उत्तर
  • दक्षिण
  • पूर्व
  • पश्चिम

ये सब व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आते हैं।
जितने भी प्रकार के देश हैं व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आते हैं।

जैसे कि-

  • भारत
  • पाकिस्तान
  • चीन
  • नेपाल
  • भूटान
  • अमेरिका
  • जापान
  • दुबई
  • कुवैत आदि।

देश में रहने वाले लोगों को राष्ट्रीय जातियों से संबोधित करते हैं। तो यह राष्ट्रीय जातियाँ भी व्यक्तिवाचक संज्ञा अंतर्गत आती है।

व अमेरिका, पाकिस्तान, भारत, चीन, नेपाल, भूटान, जापान, दुबई, कुवैत,ऑस्ट्रेलिया मतलब जितने भी प्रकार के देश है विश्व व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आते हैं।

समुद्रों के नाम को भी लिया जाता है। जैसे:-

  • प्रशांत महासागर
  • भूमध्य सागर
  • हिंद महासागर
  • दक्षिणी महासागर
  • अटलांटिक महासागर, आदि।

तो जितने भी प्रकार के समुद्र हैं, महासागर हैं इन सभी को व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत लिया जाता है।
विश्व में जितनी भी नदियां पाई जाती है सभी नदियों को भी व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत लिया जाता है,
जैसे कि:-

  • गंगा
  • यमुना
  • नर्मदा
  • कावेरी
  • कृष्णा
  • ब्रह्मपुत्र नदी
  • अमेजॉन नदी

जो जो नदियां है सभी को व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत लिया जाता है।

व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत पर्वतों को भी लिया जाता है।जैसे किः-

  • हिमालय पर्वत
  • विंध्याचल पर्वत
  • अरावली पर्वत
  • नीलगिरी
  • मलय गिरी
  • शुक्तिमान
  • चित्रकूट
  • कैलाश पर्वत
  • नंदा देवी
  • पर्वत माउंट
  • आबू गोवर्धन पर्वत
  • गिरनार पर्वत
  • गब्बर पर्वत
  • चामुंडा पहाड़ी
  • त्रिकूट पर्वत
  • तिरुमाला पर्वत आदि।

यह सब व्यक्तिवाचक संज्ञा के उदाहरण है।

व्यक्तिवाचक संज्ञा के अन्य उदाहरण

What Is Proper Noun : इसी प्रकार गांव के नामों को भी व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत लिया गया है हमारे आस पास जितने भी गांव के नाम हैं वे सभी गांव व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंदर आते हैं,

जैसे उदाहरण के लिए-

  • टिम्बड़ी
  • बालेसर
  • शेरगढ़
  • दिल्ली
  • लखनऊ
  • मुंबई
  • सिरोही आदि।

किसी प्रकार कोई नगर को ले लीजिए, जैसे-

  • कमला नगर
  • प्रताप नगर
  • श्री राम नगर आदि

सब व्यक्तिवाचक संज्ञा के उदाहरण हैं।

What Is Proper Noun : इसी प्रकार यदि सड़क के बारे में बात की जाए तो महात्मा गांधी राजमार्ग तो इस तरीके से जितने भी है यह सभी व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आते हैं।
इसी प्रकार कोई ग्रंथ,समाचार पत्र के सभी व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आते हैं।

उदाहरण स्वरूप जैसे-

  • किसी पुस्तक को ले लेते हैं।
  • मुंशी प्रेमचंद गोदान है।
  • और ग्रंथ में ले लेते हैं।

इसी प्रकार जितने भी प्रकार के युद्ध हुए हैं वह भी व्यक्ति वाचक संज्ञा के अंदर आ जाते हैं जैसे उदाहरण के तौर पर देखें तो-

  • हल्दीघाटी का युद्ध
  • बक्सर का युद्ध

पानीपत का युद्ध, यह सब व्यक्ति वाचक संज्ञा के अंतर्गत आते हैं।

इसी तरह जितने भी प्रकार के त्यौहार है, उत्सव हैं इन सब को व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत लिया जाता है, जैसे-

  • होली
  • दिपावली
  • रक्षाबंधन
  • ईद
  • क्रिसमिस आदि।

व्यक्तिवाचक संज्ञा के विस्तार पूर्वक उदाहरण

What Is Proper Noun : अब व्यक्तिवाचक संज्ञा के कुछ विस्तार पूर्वक उदाहरण ले लेते हैं, जैसे-

  • सचिन तेंदुलकर को मास्टर ब्लास्टर के नाम से भी जाना जाता है।
  • नरेंद्र मोदी भारत के ताकतवर प्रधानमंत्री है।
  • पुष्पा मेरी दोस्त है।
  • अर्जुन क्रिकेट खेलता है।
  • महेंद्र सिंह धोनी अच्छे क्रिकेटर है।
  • विक्रम वॉलीबॉल खेलता है।
  • विराट कोहली अच्छे बल्लेबाज है।
  • चेतन भगत इंग्लिश में उपन्यास लिखते हैं।
  • राजवीर जी सर हमें अच्छी हिंदी पढ़ाते हैं।
  • अक्षय कुमार बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार है।

ऊपर दिए गए वाक्यों में सचिन तेंदुलकर, नरेंद्र मोदी, पुष्पा, अर्जुन, महेंद्र सिंह धोनी, विक्रम, विराट कोहली, चेतन भगत, राजवीर जी, अक्षय कुमार, यह सब व्यक्तिवाचक श्रेणी के अंतर्गत आते हैं क्योंकि इन सभी को व्यक्तियों का बोध न कराकर केवल एक विशेष व्यक्ति के बारे में बता रहे हैं।

  • भारत देश की राष्ट्रीय भाषा हिंदी भाषा है।
  • मुझे हिंदी भाषा में बात करना बहुत पसंद है।
  • मैं अभी गुजराती भाषा सीख रहा हूं।
  • मैंने आज हिंदी की किताब खरीदी।
  • हिंदी भारत में सबसे ज्यादा प्रयोग की जाने वाली भाषा है।

ऊपर दिए गए उदाहरण के वाक्यों में हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती आदि दुनिया में बोली जाने वाली अनेक भाषाओं का बोध ना करा कर किसी विशेष भाषा का बोध करा रही है, इसलिए यह व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आती है।

  • मैं जोधपुर में रहता हूं।
  • दिल्ली दुनिया की सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला शहर है।
  • जोधपुर में मेहरानगढ़ दुर्ग स्थित है।
  • दिल्ली में लाल किला स्थित है।
  • आगरा में स्थित ताजमहल बहुत ही सुंदर इमारत है।
  • जोधपुर शहर के मिर्ची बड़े बहुत फेमस है।
  • जैसलमेर में स्थित सोनार का किला बहुत ही आकर्षण है।
  • उदयपुर शहर को जिलों की नगरी कहा जाता है।
  • मुंबई शहर को स्मार्ट सिटी का जाता है।
  • दिल्ली में कुतुब मीनार स्थित है।

ऊपर दिए गए वाक्यों में जोधपुर, दिल्ली, आगरा, जैसलमेर, उदयपुर, मुंबई आदि दुनिया के सारे नगरों का बोध ना करा कर कुछ विशेष नगरों का बोध करा रहे हैं, इसलिए यह सब व्यक्तिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आते हैं।

  • परीक्षा गुरु हिंदी का प्रथम उपन्यास था।
  • कोहिनूर हीरा अभी लंदन में है।
  • गोदान उपन्यास सन् 1936 में लिखा गया था।

इन वाक्यों में कोई नूर गोदान सभी हीरो या उपन्यासों का बोध नही कर विशेष हीरे व उपन्यास का बोध करा रहे हैं इसलिए यह भी व्यक्तिवाचक संज्ञा की श्रेणी में आते हैं।

  • किरण बेदी भारतीय पुलिस सेवा में सम्मिलित होने वाली प्रथम महिला अधिकारी है।
  • महात्मा गांधी जी को हम बापू के नाम से भी जानते हैं।
  • कल्पना चावला अतंरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की प्रथम महिला थी।
  • चन्द्रशेखर आजाद भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक एवं लोकप्रिय स्वतंत्रता सेनानी थे।
  • बाल गंगाधर तिलक, एक भारतीय राष्ट्रवादी, शिक्षक, समाज सुधारक, वकील और एक स्वतन्त्रता सेनानी थे।
  • जवाहरलाल नेहरू भारत के प्रथम प्रधानमन्त्री थे।
  • लता मंगेशकर भारत की सबसे लोकप्रिय और आदरणीय गायिका थीं।
  • रानी लक्ष्मीबाई मराठा शासित झाँसी राज्य की रानी और 1857 की राज्यक्रान्ति की द्वितीय शहीद वीरांगना थीं।
  • सरदार वल्लभभाई पटेल को भारत के लौह पुरुष का जाता है।

ऊपर दिए गए वाक्यों में किरण बेदी, महात्मा गांधी, कल्पना चावला, चंद्रशेखर आजाद, बाल गंगाधर तिलक, जवाहरलाल नेहरू, लता मंगेशकर, रानी लक्ष्मी बाई, व सरदार वल्लभभाई पटेल यह सब व्यक्तिवाचक संज्ञा की श्रेणी में आएंगे, क्योंकि यह किसी विशेष व्यक्ति का बोध करा रहे हैं।

यह भी पढ़े :

Bhavvachak Sangya Kya Hai | भाववाचक संज्ञा क्या है? प्रकार और उदाहरण

What Is A Common Noun | जातिवाचक संज्ञा क्या है? परिभाषा एवं उदाहरण।

What Is Verb in Hindi | क्रिया क्या है?

What Is Proper Noun

FAQ

व्यक्तिवाचक संज्ञा क्या होता है?

जिन शब्दों से किसी विशेष व्यक्ति, स्थान अथवा वस्तु के नाम का बोध हो, उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं। जैसे – जयपुर, दिल्ली, भारत, रामायण, अमेरिका, राम इत्यादि।

व्यक्तिवाचक संज्ञा को इंग्लिश में क्या कहते है?

व्यक्तिवाचक संज्ञा को इंग्लिश में Proper Noun कहते है

जातिवाचक और व्यक्तिवाचक संज्ञा में क्या अंतर है?

जिन संज्ञा शब्दों एक व्यक्ति, वस्तु, स्थान आदि का बोध हो, उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं, जैसे—राम, श्याम, कुर्सी, पटना, बिहार आदि। जिन संज्ञा शब्दों से जाति का बोध होता है, उन्हें जातिवाचक संज्ञा कहते हैं।

निष्कर्ष

हिंदी व्याकरण की मुख्य शाखा संज्ञा जिसे कई अलग-अलग वेद में विभाजित किया गया है। आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से संज्ञा के एक प्रकार व्यक्तिवाचक संज्ञा, What Is Proper Noun, के बारे में डिटेल में जानकारी दी है।

उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा इस आर्टिकल में हमने व्यक्तिवाचक संज्ञा के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी, जो की बहुत ही सरल भाषा में है। इसी तरह अन्य बिंदुओं पर हमारे आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारे साथ बने रहे हैं।

Share on:

Author: Amresh Mishra

I am Amresh Mishra, owner of My Technical Hindi Website. I am a B.Sc graduate degree holder and 21yrs old young entrepreneur from the City of Patna. By profession, I'm a web designer, computer teacher, google webmaster and SEO optimizer. I have deep knowledge of Google AdSense and I am interested in Blogging.

Leave a Comment