15 Tips to Rank #1 on Google | जानें ब्लॉग को गूगल में रैंक करवाने के जरुरी टिप्स

-- विज्ञापन --

New Blog ko Rank kaise karaye: क्या आप Google Ranking और अपने Website/Blog Post के Indexing की समस्या से निराश हैं, तो आज का पोस्ट आपके काम आ सकता है। आज हम उन 15 चीजों के बारे में बात करने जा रहे हैं जिसका उपयोग करके आप अपने वेबसाइट को Google में रैंक करा सकते है। Google Search में वेबसाइट या ब्लॉग लेख को रैंक या अनुक्रमित नहीं करने के विभिन्न कारण हो सकते हैं।

-- विज्ञापन --

यदि आपने एक नई वेबसाइट बनाई है तो हो सकता है की आपको Search Engine Optimization (SEO) के बारे में अच्छे से जानकारी न हो या आप इसे अपने वेबसाइट में ठीक से नहीं कर रहे हैं? इसके अलावा, कई अन्य कारण हो सकते हैं जो की किसी वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए आवश्यक है। बहुत से नए ब्लॉगर इस बात को लेकर परेशान रहते हैं की नए ब्लॉग को गूगल में रैंक कैसे कराएं, तो इसलिए आज इस पोस्ट में हम आपको 15 ऐसे टिप्स बताएंगे जिससे आप नई वेबसाइट को आसानी से गूगल में रैंक करा सकते हैं।

Blog / Website  को गूगल में  रैंक कैसे कराएं? | Blog Post Rank kaise karaye
-- विज्ञापन --

नए ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल में रैंक कैसे कराएं? | Blog/ Website ko Rank kaise karaye?

वर्तमान समय में, ब्लॉगिंग एक बिजनेस बन गया है। और, ब्लॉगिंग में इस रुचि का कारण है, “ब्लॉग से पैसे कमाने का अवसर”। लोग अब ब्लॉगिंग को एक प्रक्रियात्मक व्यवसाय या कैरियर के रूप में ले रहे हैं। और इसलिए, इस मामले में, बहुत Competition बढ़ गया है। हम सभी जानते हैं कि एक ब्लॉग से पैसे कमाने के लिए, “उस ब्लॉग को हर दिन हजारों Unique Visitors की आवश्यकता होती है”। और, इस मामले में, Google Search प्रतिदिन हमारे ब्लॉग को बहुत सारे Organic Traffic दे सकती है।

और इसलिए, एक ब्लॉगर के रूप में, हम हमेशा अपने ब्लॉग “Google Search Engine” में Top पर लाने की कोशिश करते हैं। नीचे, हम Google द्वारा आपके ब्लॉग या वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए कुछ टिप्स बता रहे हैं।

1. सही Domain Name का चयन करें

एक नया वेबसाइट बनाने से पहले उसके लिए सही Domain Name का चयन करना बहुत जरूरी है। कई नए ब्लॉगर ऐसे होते हैं जो Subdomain पर ब्लॉग बना देते हैं, और वे Top Level Domain नहीं खरीदते। लेकिन आज इतना कंपटीशन है की किसी वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए टॉप लेवल डोमेन आवश्यक हो गया है। आप अपने वेबसाइट के लिए .Com, .in, .net, .org आदि में से कोई भी टॉप लेवल डोमेन नेम चुन सकते हैं।

साथ ही ध्यान रखें कि किसी विशेष Niche को टारगेट करने के लिए Niche के आधार पर Domain Name का चयन करना बेहतर माना जाता है। इससे उस कीवर्ड के सर्च किए जाने पर आपके वेबसाइट को Google में आने के Chances बढ़ जाते हैं। उदाहरण के लिए मेरे वेबसाइट के डोमेन में उपयोग होने वाला Hindi Word, हिंदी लैंग्वेज को टारगेट करता है।

ये भी पढ़े: Blogging kaise kare

2. वेबसाइट को गूगल सर्च कंसोल में सबमिट करें

किसी भी वेबसाइट को बनाने के बाद सबसे पहला काम होता है उसे Google Search Console में सबमिट करना। क्योंकि किसी वेबसाइट पर ट्रैफिक तब आएगा जब उसके ब्लॉग पोस्ट इंडेक्स होंगे। इसके लिए Google Search Console में वेबसाइट को सबमिट करना जरूरी है।

यदि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग नया है, तो Google Bots को उस नई वेबसाइट को क्रॉल करने में समय लगाएगा। नई वेबसाइट को Google Search में Index करने में लगभग 1 महीने का समय लग सकता है। इसलिए, यदि आपकी ब्लॉग साइट को Google में नया सबमिट किया गया है, तो पूरा ब्लॉग Google में Index और रैंक होने में समय लेगा। आप Google पर अपने ब्लॉग के सभी Indexed Pages को देखने के लिए गूगल में Site:yoursiteurl.com Search कर सकते हैं। यहां yoursiteurl.com के जगह पर अपने वेबसाइट का यूआरएल रखें।

इसके बाद आपके वेबसाईट के सारे Indexed Pages दिखाई देंगे। हालाँकि, नई वेबसाइट के मामले में, Google के पहले Page पर रैंकिंग प्राप्त करना आसान नहीं है। क्योंकि, जब आपकी वेबसाइट या ब्लॉग नया होगा, तब उस वेबसाइट का Domain Authority (DA) बहुत कम होगा। और, Google एक नए और कम Domain Authority (DA) के साथ वेबसाइटों पर भरोसा नहीं करता है।

जब आप नियमित रूप से अपने ब्लॉग पर पोस्ट प्रकाशित करते हैं, तो आपके ब्लॉग साइट का DA (डोमेन अथॉरिटी) धीरे-धीरे बढ़ता जाएगा। नतीजतन, यदि आप अच्छा, उच्च गुणवत्ता और एसईओ अनुकूलित लेख लिख रहे हैं, तो कोई भी उन्हें Google के पहले Search Engine में रैंकिंग से रोक नहीं सकता है।

अपने Blog का Traffic बढ़ाने के लिए 4 Master Tips को Follow करें।

3. Google Search Console में Sitemap Submit करें

Sitemap किसी डोमेन में मौजूद वेबसाईट के सभी Webpage का लिस्ट होता है। Google को आपके वेबसाईट के Structure को समझाने के लिए साइटमैप बहुत जरूरी है। इसीलिए गूगल सर्च Console में साइटमैप जरूर सबमिट करें। Sitemap एक इंडेक्स फाइल होता है, इसमें वे यूआरएल होते हैं जिसे गूगल को इंडेक्स करना है।

गूगल के अलावा अन्य Webmaster tool जैसे की Bing, Yandex आदि में भी Sitemap Submit करना आवश्यक है। इससे अन्य सर्च इंजन में भी आपके वेबसाईट के वेब पेज इंडेक्स होंगे और ट्रैफिक अधिक मिलेगा। इसके साथ साथ आपके वेबसाईट के Web Page भी आसानी से और जल्दी इंडेक्स होते हैं।

4. Low Competition Keywords का चयन करें

जैसा कि मैंने पहले कहा, ब्लॉगिंग में बहुत Competition है। हर दिन एक ही विषय पर हजारों ब्लॉग पोस्ट प्रकाशित किए जा रहे हैं और उन्हें Google द्वारा Index किया जा रहा है। अब, यदि आप किसी विषय पर एक ब्लॉग बना रहे हैं या किसी ऐसे पोस्ट को लिख रहे हैं, जो किसी ऐसे कीवर्ड को Target कर रहा हो, जिसके बारे में Google के पास पहले से ही उस वेबसाइट या कीवर्ड के बारे में हजारों जानकारी / वेबसाइटें हों। फिर आपको उस विषय या कीवर्ड के साथ Google Search के पहले Page पर रैंकिंग प्राप्त करने के लिए कई Competitor Websites से निपटना होगा। इस स्थिति में, यदि आपकी Competitor Website की Content Quality, SEO और Domain Authority सभी उच्च गुणवत्ता वाले हैं, तो आपके लिए वेबसाइट को Google में उस कीवर्ड या सब्जेक्ट के साथ रैंक करना लगभग असंभव होगा।

इसके लिए इससे पहले कि आप एक पोस्ट लिखें, आपको “कीवर्ड रिसर्च” करना होगा। Keyword Research के माध्यम से, आप Google द्वारा खोजे गए किसी भी कीवर्ड के बारे में जानकारी एकत्र कर सकते हैं। Google Search Engine में, हर महीने कितनी बार किसी कीवर्ड को सर्च किया जा रहा है, Google द्वारा कीवर्ड्स को टारगेट करते हुए कितने आर्टिकल लिखे गए हैं, कीवर्ड difficulty, आप कीवर्ड रिसर्च के जरिए पूरा जान सकते हैं। आप फ्री में कीवर्ड रिसर्च के लिए Google Keyword Planner tool का उपयोग कर सकते हैं।

ये भी पढ़े: 7 Hindi blogging niches

5. Quality Content लिखें

यदि आप Quality Content नहीं लिख रहे हैं, तो Google Search के पहले पृष्ठ पर रैंकिंग प्राप्त करने में समस्या होगी। अब सवाल यह है कि यह “Quality Content” क्या मतलब है? इसका जवाब बहुत सीधा है। क्वालिटी आर्टिकल का अर्थ है इस तरह से लेख लिखना कि अपके ब्लॉग से आपके Visitor अपने प्रश्न का सही उत्तर या समाधान पा सकें। मैंने दुनिया भर में बहुत सारे ब्लॉगर्स देखे हैं जो स्पष्ट रूप से पोस्ट नहीं लिखते हैं। उनके पास पोस्ट लिखने के लिए कोई नियम और कानून नहीं है। नतीजतन, Visitors उनके पोस्ट को पसंद नहीं करते हैं और Google उन वेबसाइटों को रैंक नहीं करता है। इसलिए हमेशा किसी भी विषय पर एक विस्तृत लेख लिखने का प्रयास करें। छोटे पैराग्राफ में लेख लिखने की कोशिश करें और कम से कम 1500 और 2000 के बीच एक सूचनात्मक लेख प्रकाशित करने का प्रयास करें।

-- विज्ञापन --

Google में पहले से ही किसी भी विषय या कीवर्ड के साथ बहुत सारे वेब पेज हैं। तो, Google आपकी वेबसाइट को निम्न गुणवत्ता वाली सामग्री के लिए क्यों रैंक करेगा जब इसमें पहले से ही बहुत अच्छी Content है। इसके बारे में आपको सोचना चाहिए।

6. Article को Social Media पर शेयर करें

नई वेबसाईट पर ट्रैफिक प्राप्त करने का सबसे अच्छा तरीका है Social Media. इसके अलावा यदि आपके वेबसाइट को अधिक से अधिक शेयर किया जाता है तो गूगल को इस प्रतिक्रिया का पता चलता है और वह आपके वेबसाइट को जल्दी Index करता है तथा आपके वेबसाइट के रैंकिंग को Improve करने में भी आपकी मदद करता है।

इसके अलावा यदि आप अपने वेबसाईट को Social Media पर शेयर करते हैं तो वहां आपके वेबसाइट का एक Refferal Link बन जाता है और आपके वेबसाइट के लिए एक Dofollow Backlinks भी मिल जाता है, जो की किसी वेबसाईट के रैंकिंग में बहुत मददगार है।

Article शेयर करते समय आपको एक बात का ध्यान रखना चाहिए की इसे किसी ऐसे जगह पर ही शेयर करें जहां पर क्लिक करने के बाद यूजर आपके वेबसाइट के Content को पढ़ रहे हों। यदि कोई आपके द्वारा शेयर किया गया लिंक पर क्लिक करता है और तुरंत वापस आ जाता है तो इसका आपके वेबसाइट पर बुरा प्रभाव भी पड़ सकता है।

7. मोबाइल के अनुकूल वेबसाइट बनाएं

वर्तमान में लगभग 80% Web Search स्मार्टफोन के माध्यम से की जाती हैं। और इसलिए, Google ने मोबाइल-अनुकूल खोज परिणामों में सुधार करने के लिए इसे रैंकिंग कारक के रूप में लेना शुरू कर दिया है। इसका मतलब है कि वेबसाइट के मोबाइल के अनुकूल बनाना एक रैंकिंग कारक माना जाता है। यदि आपका वेबसाइट मोबाइल पर अच्छे से नहीं दिखाई देता है तो हो सकता है आपके वेबसाइट का रैंकिंग डाउन हो सकता है। इसलिए, किसी भी वेबसाइट के लिए एक Theme या Template का चयन करने से पहले, देखें कि यह Mobile Friendly Theme है या नहीं। यह देखने के लिए कि आपकी वेबसाइट मोबाईल फ्रेंडली है या नहीं, आप Google के Mobile Friendly Testing Tool का उपयोग कर सकते हैं।

8. Website Loading Speed को बढ़ाने की कोशिश करें

आम तौर पर यूजर किसी भी वेबसाइट को ओपन करने के लिए अधिक प्रतीक्षा नहीं करना चाहते। यदि आपका वेबसाइट Google Search Results में दिखाई देता है और यदि उसे ओपन करने में अधिक समय लग रहा है तो यूजर आपके वेबसाइट को खोलने के लिए ज्यादा देर प्रतीक्षा नहीं करेंगे, और वे आपके वेबसाइट के बजाय किसी और वेबसाइट के लिंक पर क्लिक करके उसपर जा सकते हैं, इस प्रकार आपकी वेबसाइट पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देखकर गूगल आपके वेबसाइट की रैंकिंग को डाउन भी कर सकता है।

दूसरी ओर Google भी Website Loading Speed को एक Ranking Factor मानता है। वह ऐसे वेबसाईट को रैंक नहीं करता है जिसका लोडिंग टाइम 3 सेकंड से अधिक है। आप अपने वेबसाइट का Loading टाइम Google के Page Speed Insights, Pingdom और Gtmetrix आदि टूल का प्रयोग करके जांच कर सकते हैं।

अपने वेबसाइट का लोडिंग स्पीड को ठीक करने के लिए कम से कम Javascript, CSS और Lightweight Theme का प्रयोग करें। यदि आप एक WordPress User हैं, तो कम से कम प्लगिन का इस्तेमाल करें।

9. Title और Description में आकर्षक शब्दों का इस्तेमाल करें

किसी भी पोस्ट लिखते समय एक आकर्षक Title और डिस्क्रिप्शन चुनें, क्योंकि Google में सिर्फ और सिर्फ आपके वेबसाइट का टाइटल और Description दिखाए जाते हैं। यदि आप आकर्षक टाइटल तथा डिस्क्रिप्शन चुनेंगे तो इसपर अधिक से अधिक Users द्वारा क्लिक किया जाएगा। इससे आपके वेबसाइट का CTR (Click through rate) बढ़ जाएगा, और इससे आपके वेबसाइट की रैंकिंग भी Improve होगी। क्योंकि अधिक क्लिक होने से Google को लगेगा की इस वेबसाइट में कुछ तो ऐसी बात है जिससे उसपर अधिक लोगों द्वारा क्लिक किया जा रहा है। और इस प्रकार वह आपके वेबसाइट का रैंकिंग को बढ़ाने में मदद करेगा।

10. Quality Content लिखें

Quality Content का मतलब है एक ऐसा कंटेंट लिखें जिसे लोग अधिक समय तक पढ़ें। इसके अलावा हमेशा Article खुद से लिखे, वह कहीं से कॉपी न करें, साथ ही साथ Article के बीच अन्य पोस्ट के लिंक भी Add करें। पोस्ट को पढ़ने के लिए सरल बनाएं। पोस्ट को अच्छे से Format करने के लिए Bullets, Numbering आदि का इस्तेमाल करें।

यदि आप अच्छा लिखते हैं तो हो सकता है की यूजर अन्य लिंक पर क्लिक करके अन्य पोस्ट को भी पढ़ें। आपके वेबसाइट पर User का Engagement जितना रहेगा, उतना ही आपके। Website की रैंकिंग बढ़ेगी। यदि आप अन्य लोगों के ब्लॉग से Content चोरी या कॉपी करके अपना स्वयं का ब्लॉग पर Publish कर रहे हैं, तो इस मामले में भी आपकी वेबसाइट की Content को Google Search में किसी भी तरह से Rank या इंडेक्स नहीं किया जाएगा। याद रखें, Google आसानी से समझ सकता है कि आपने कोई Content स्वयं बनाई है या उसे अन्य वेबसाइटों से कॉपी किया है। इसके अलावा, Google को पता है कि कौन सी सामग्री पहले ही एक वेबसाइट पर प्रकाशित हो चुकी है जिसे चोरी या कॉपी किया गया है। इसलिए, यदि आपका ब्लॉग मूल रूप से अन्य वेबसाइटों या ब्लॉगों से कॉपी या चोरी की गई सामग्री है, तो Google Search में रैंकिंग पाने का आपका सपना सिर्फ एक सपना ही रह जाएगा।

11. High Quality Backlink बनाएं

जब भी Google किसी वेबसाइट के किसी पेज को क्रॉल, इंडेक्स और रैंक करता है, तो वह उस पेज के रैंकिंग फैक्टर के रूप में बैकलिंक्स को भी रैंक करता है। आपकी वेबसाइट के Page के लिए जितने अधिक External Backlinks होंगे, Google के नजर में आपके वेबसाइट के लिए एक Green Signal मिलेगा। क्योंकि Backlink एक Ranking Factor है और साथ ही भरोसा का प्रतीक है। कोई साइट आपके वेबसाइट को एक Dofollow Backlink दे रहा है इसका मतलब है कि वह वेबसाइट आपके वेबसाइट का समर्थन करता है और इसीलिए Google Backlinks के आधार पर भी आपके वेबसाइट को रैंक करता है। लेकिन ध्यान रहे कि Backlinks हमेशा High quality ites से प्राप्त करें। यदि आप एक Low Quality Backlink बनाते हैं तो हो सकता है की आपके वेबसाइट का रैंकिंग डाउन कर दिया जाय।

-- विज्ञापन --

इसके अलावा, खराब और निम्न गुणवत्ता वाले बैकलिंक्स के परिणामस्वरूप, Google आपकी वेबसाइट को “दंडित” कर सकता है। और परिणामस्वरूप, आपकी वेबसाइट की Google रैंकिंग गंभीर रूप से Down हो जाएगी। शुरुआती वेबसाइटों के लिए तथा Domain Authority बढ़ाने के लिए Backlinks बहुत महत्वपूर्ण है। उच्च- गुणवत्ता वाले बैकलिंक बनाने के लिए अपने ब्लॉग पर उच्च गुणवत्ता की सामग्री लिखें और प्रकाशित करें। नतीजतन, लोग स्वचालित रूप से आपको बैकलिंक देने के लिए मजबूर होंगे। इसके अलावा High authority blog पर Guest Post करें। अपने Blog / website से संबंधित अन्य do-follow ब्लॉग पर Comment करें। Top High Quality Blog Directories में अपना स्वयं का ब्लॉग जोड़ें।

12. ब्लॉग का Bounce Rate को कम करें

ब्लॉग के Ranking में Bounce Rate एक बहुत ही महत्वपूर्ण Factor है। आप Bounce Rate का विवरण Google Analytics में देख सकते हैं। यदि आपने अभी तक अपने वेबसाइट को Google Analytics से नहीं जोड़ा है तो इसे जरूर Connect करें। Google Analytics में आप अपने वेबसाईट से जुडी Data को प्राप्त कर सकते हैं।

Bounce Rate का मतलब है उछाल दर, इससे यह पता चलता है की आपके वेबसाइट पर कितने यूजर टिक रहे हैं और कितने यूजर आपके वेबसाइट को छोड़कर वापस चले जा रहे हैं। Bounce Rate को कम से कम रखने का प्रयाश करें। किसी वेबसाईट के लिए 30% से कम Bounce Rate बेहतर माना जाता है। इसका मतलब है कि आपके वेबसाइट के 70% यूजर आपके वेबसाइट के कंटेंट को वास्तव में पढ़ते हैं, और बाकी 30% ऐसे यूजर हैं जो आपके वेबसाइट पर आते तो हैं लेकिन बिना रुके वापस चले जाते हैं।

Bounce Rate को कम करने के लिए High Quality Content लिखें, कंटेंट के बीच में अन्य पोस्ट के Hyperlink Add करें, और वेबसाईट के डिजाइन को आकर्षक बनाएं। कुछ ऐसा करें जो आपने वेबसाईट के यूजर को आकर्षित करे।

13. कुछ महत्वपूर्ण SEO Techniques का प्रयोग करें

यह तो आप पहले से ही जानते होंगे की SEO क्या है और यह वेबसाइट के लिए क्यों जरूरी है। SEO का पूरा नाम है Search Engine Optimization जिसके अनुसार आप अपने वेबसाइट को सर्च इंजन के लिए Optimize करते हैं। मैंने अपने पिछले पोस्ट में विस्तार से बताया है कि SEO क्या है और एक वेबसाइट के लिए Search Engine Optimization कैसे करते हैं, यहां हम SEO के कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में बता रहे हैं। यदि आप एक वर्डप्रेस यूजर हैं तो आप नीचे दिए गए चीजों को आसानी से अपने वेबसाइट में Implement कर सकते हैं, वह भी सिर्फ एक SEO Plugin का इस्तेमाल करके :-

  • Content के टाइटल, Hyperlink, Description, Heading तथा Paragraphs में Focus Keyword का इस्तेमाल करें।
  • -- विज्ञापन --
  • जरूरी कीवर्ड और शब्दों को Bold, Italic, Underline करें।
  • Content में अन्य पोस्ट के लिंक को ऐड करें और अन्य अनावश्यक लिंक को Nofollow करें।
  • पोस्ट में उपयोग होने वाले Image में Alt Tag का प्रयोग करें।
  • Broken Link को अपने वेबसाइट से Remove करें। या उन्हें किसी अन्य पोस्ट के url पर Redirect करें।
  • Txt तथा Sitemap file का प्रयोग करें।
  • Meta Tags का इस्तेमाल करें।
  • 404 Error Page बनाएं।
  • Table of Contents का इस्तेमाल करें।

14. ब्लॉग पोस्ट को Rich Results के लिए तैयार करें

यदि आप Blogging के क्षेत्र में नए हैं तो हो सकता है आपको Rich Results के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं हो। यह SEO का Hidden Technique है। इसके अनुसार अपने पोस्ट को ब्लॉग पोस्ट को मूल रूप से पहले Page दिखाने के लिए तैयार किया जाता है। Rich Result का मतलब है की Google में आपके वेबसाइट का लिंक विशेष रूप से प्रदर्शित होना।

यदि आप Easy to Understand तथा Question Based पोस्ट लिखते हैं तो इसका पहले पेज पर आने के Chances बढ़ जाते हैं। यदि आप अपने वेबसाइट को Google में अन्य वेबसाइटों से अलग दिखाना चाहते हैं तो आप Schema Markup का प्रयोग कर सकते हैं। Schema Markup का प्रयोग करने से गूगल के रिजल्ट पेज में ही वेबसाईट से जुडी जानकारियां प्रदर्शित होने लगती है और उसपर क्लिक होने की संभावना बढ़ जाती है। आप अपने पोस्ट में WordPress Plugin के माध्यम से Schema Markup का इस्तेमाल कर सकते हैं। कुछ महत्वपूर्ण External Schema Markup जैसे Faqs Schema, How to Schema, Table Schema तथा Review आदि Schema Markup का सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता है।

15. नियमित रूप से पोस्ट लिखें

आपने गूगल पर किसी News Website को सबसे ऊपर रैंक करते हुए देखा होगा। क्या आपने इसके पीछे के वजह को जानने की कोशिश की। यदि आप देखेंगे तो पायेंगे कि News Website का कंटेंट काफी छोटा है फिर भी वह सबसे पहले रैंक कर रहा है। इसका मुख्य कारण है की News Website पर एक दिन में लगभग 50 पोस्ट पब्लिश किए जाते हैं। यदि आप भी अपनी वेबसाइट पर नियमित रूप से पोस्ट पब्लिश करते हैं तो आपकी भी पोस्ट जरूर रैंक होगी। आप जितना अधिक पोस्ट लिखेंगे, गूगल के नजर में आपका Trust उतना बढ़ेगा, जो की आपके वेबसाइट के Higher Ranking में सहायता करेगा।

अंतिम शब्द,

आज इस पोस्ट में मैने बताया कि एक नई वेबसाईट को गूगल में जल्दी रैंक कैसे करवाएं। यहां पर मैने काफी Research करने के बाद आपसे ये जरूरी टिप्स को शेयर किया है। इसमें मैने लगभग सभी टिप्सों का अपने वेबसाइट के लिए इस्तेमाल किया जिससे मुझे सही परिणाम देखने को मिले। यदि आप भी एक ब्लॉगर हैं तो मैं आपको भी ऊपर बताए गए तरीके का उपयोग करने का सलाह दूंगा।

यदि आपके लिए यह पोस्ट उपयोगी हो तो इसे अन्य लोगों के साथ भी जरूर शेयर करें। साथ ही साथ यदि आपके पास कोई सवाल है तो हमें कमेंट करके बताएं।

-- विज्ञापन --
Share on:

3 thoughts on “15 Tips to Rank #1 on Google | जानें ब्लॉग को गूगल में रैंक करवाने के जरुरी टिप्स”

  1. nice information mai apne nye blog pe isse jrur follow krunga . kya aap bta skte hain ki aapka theme kaun sa hai aur aapne ise kha se liya hai ?

    mujhe ye theme chahiye plz meri madad kren

    Reply

Leave a Comment