Plagiarism kya hai | What is plagiarism in Hindi 2020

-- विज्ञापन --

Plagiarism kya hai: Plagiarism एक ऐसा शब्द है जो आपने कई बार सुना होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि Plagiarism क्या है, और इसके बारे में जानना क्यों जरूरी है।

-- विज्ञापन --

आज दुनिया भर में लगभग सभी लोग के पास Internet उपलब्ध है, इसका उपयोग दुनिया के लगभग हर कोने में किया जा रहा है और इसी वजह से जब भी हमें किसी प्रकार की जानकारी की आवश्यकता होती है तो हम तुरन्त इसे इंटरनेट पर सर्च करते हैं। आपने देखा होगा कि यहां पर बहुत से Result आपके सामने प्रदर्शित किए जाते हैं।

आपने यहां पर देखा होगा कि प्रत्येक Results में एक ही टॉपिक पर बहुत से Different Results मिलते हैं, यहां आप देखेंगे कि प्रत्येक Results में दिखाए गए Content अलग होता है। तो यदि एक ही वेबसाईट पर किसी अन्य वेबसाइट की Content या एक तरह की चीजें दिखाई जाति है तो इसे साहित्यिक चोरी या Plagiarism कहा जाता है।

आज हम इस पोस्ट में बात करेंगे Plagiarism क्या है और यह किसी वेबसाइट की Ranking को कैसे प्रभावित करता है। यहां Plagiarism से जुड़ी सभी जानकारियां विस्तार से बताई गई है। तो सबसे पहले जानते हैं की Plagiarism है क्या?

Plagiarism Kya Hai in Hindi 2020

Plagiarism Kya Hai in Hindi

-- विज्ञापन --

Plagiarism को हिंदी में “साहित्यिक चोरी” कहा जाता है, जिसका सामान्य अर्थ है नकल करना। किसी अन्य व्यक्ति के द्वारा लिखी गई या प्रयोग की गई Content, विचार, उपाय, Image, Design को बिना उस व्यक्ती के अनुमति के प्रयोग करना Plagiarism कहलाता है।

मान लीजिए आप एक Website के मालिक हैं और आप अपने वेबसाइट पर किसी अन्य वेबसाइट की सामग्री Copy या नकल करते हैं। आप अपनी वेबसाइट पर किसी अन्य वेबसाइट की कंटेंट या Image पब्लिश करते हैं तो आपकी यह कार्य Plagiarism तथा आपके वेबसाइट का कंटेंट Plagiarised कहलाएगा।

Plagiarism की सबसे अधिक प्रयोग ब्लाॅग या वेबसाइट के लिए Content लिखने में होता है क्योंकि आज कोई भी एक ब्लॉग या वेबसाइट बनाकर ब्लॉगिंग करना चाहते हैं लेकिन मेहनत नहीं करना चाहता। वे बिल्कुल आसानी से किसी भी वेबसाइट का content कॉपी करके अपने वेबसाईट पर upload कर देते हैं। लेकिन ऐसा करना सही नहीं है।

Search Engine में किसी भी वेबसाइट को Rank करवाने के लिए Unique Content बहुत जरुरी है। यदि Plagiarism Free Content की बात की जाय तो आप अपने वेबसाइट के लिए खुद से Content लिख सकते हैं या एक Content writer hire कर सकते हैं जो आपको Unique Content लिखकर दे सकता है।

Plagiarism Kai Fayde Kya Hai | Advantages of Plagiarism in Hindi

Advantages of Plagiarism in Hindi

आज की दुनिया में जितने प्रकार के Content लिखे जाते हैं, जिनमे मुख्य रूप से Article, Blogs, Books, Academic Writings आदी आते हैं, उन सभी के कंटेंट क्रिएटर्स को विभिन्न Websites की मदद लेनी पड़ती है। इस तरह वे विभिन्न Content को पढ़ते हैं, कभी-कभी जानबूझकर या अनजाने में, वे दूसरे के उपयोग किए गए वाक्यों या Paragraph की नकल करते हैं।

हालाँकि, यह बिल्कुल गलत बात है क्योंकि यह मूल लेखकों के कॉपीराइट का उल्लंघन करता है। यहां तक कि कभी-कभी लोग किसी भी Sentence को unique बनाने के लिए Paraphrasing tools का सहारा लेते हैं यह भी बिल्कुल गलत है। जब Plagiarism के फायदे की बात की जाय तो इसके अधिक फायदे नहीं हैं, यदि आप अपने वेबसाइट के लिए किसी दूसरे के Content की चोरी करते हैं तो आपके समय की बचत होगी इसके बजाय आपको कुछ भी लिखना नहीं पड़ेगा।

Plagiarism Kai Nuksan Kya Hai | Disadvantages of Plagiarism in Hindi

Disadvantages of Plagiarism in Hindi

यह तो आपको अच्छे से पता होगा कि किसी भी प्रकार की कंटेंट या सामग्री की चोरी करना एक कानूनन अपराध है। यहां किसी वेबसाइट से किसी सामाग्री को कॉपी करने के नुक़सान बताए गए हैं।

  • बहुत से वेबसाईट वर्तमान समय में DMCA Protection का उपयोग करते हैं। यदि आप उनके वेबसाईट से किसी कंटेंट को Copy करते हैं तो इसके बदले में वे आप पर DMCA की उल्लंघन के मामले में गिरफ्तार करवाकर jail भी भेज सकते हैं। इसके लिए आपको जुर्माना भी देना पड़ सकता है और आप सलाखों के पीछे जा सकते हैं।
  • -- विज्ञापन --
  • यदि आप Plagiarised Content को अपने वेबसाईट में अपलोड करते हैं तो आप Search Engine में Rank नहीं कर सकते और कभी सफलता नहीं पा सकते। Google किसी भी गलत गतिविधियों पर हमेशा नजर रखता है। इसके लिए वे नियामित रूप से अपने Algorithm को अपडेट करता है। पिछली बार उन्होंने Panda Algorithm लॉन्च किया था जो Low Quality Content तथा डुप्लिकेट कंटेंट को Low ranking तथा Original Content को High Ranking प्रदान करता है।
  • यदि आप किसी भी कंटेंट की चोरी करते पकड़े गए तो Google कभी भी आपके वेबसाइट को Ban कर सकता है या उसकी Ranking Down करके आपके वेबसाइट को Penalize कर सकता है।
  • यदि आपने एक नया वेबसाईट बनाया है और Low Quality Content की सहायता से Ads दिखाना चाहते हैं तो आप Google AdSense की Approval कभी नहीं ले सकते। अगर आपकी वेबसाइट पुरानी है और यदि आप Plagiarism का प्रयोग करते हैं तो आपके Website पर Ads दिखना बंद हो सकता है तथा हमेशा के लिए आपका AdSense Account Disable हो सकता है।
  • यदि आपके Website पर कोई Visitors आते हैं और किसी अन्य वेबसाइट के जैसी Same Content उन्हें प्राप्त होती है तो वे बहुत जल्द आपके वेबसाइट के Articles को बिना पढ़े वापस जा सकते हैं। इससे आपके वेबसाइट की Bounce Rate बढ़ सकती है।

Plagiarism से कैसे बचें?

  1. Plagiarism से बचने का सबसे बेहतरीन तरीका है खुद से Content लिखना। आप Content स्वयं के विचार से लिखें तथा किसी अन्य व्यक्ति के द्वारा लिखे गए सामग्री का प्रयोग न करें।
  2. आपके Content की Uniqueness तथा क्वालिटी कि जांच करने के लिए बहुत से Plagiarism Checker उपलब्ध हैं उनका प्रयोग करें। यह Tool आपके आर्टिकल में कौन कौन से Sentence अद्वितीय (Unique) है वह बता देगा। आप उस sentence को या तो हटा दें या अपने भाषा में लिख लें।
  3. यदि आपकी वेबसाइट है और आप उस पर Publish की गई Content को रोकना चाहते हैं तो आप DMCA की सहायता ले सकते हैं या Coding के माध्यम से Script लगकर Content को Copy होने से बचा सकते हैं।

Plagiarism Checker Kya Hai और इसका उपयोग क्यों जरूरी है?

Plagiarism Checker Kya Hai

यदि आप इन्टरनेट पर Plagiarism Checker सर्च करेंगे तो आपके सामने बहुत से Results आएंगे ये सभी वेबसाइट एक Tool हैं जो इन्टरनेट पर उपलब्ध सभी content को Analyse करके यह बताता है कि आपका Content कितना Unique है। यहां आप यह भी पता कर सकते हैं कि आपका कंटेंट कितना प्रतिशत Unique तथा कितना Plagiarism है। और यदि आपका Article कहीं से Copied है तो वह किस वेबसाइट से लिया गया है।

बहुत से Plagiarism Checker Tools फ्री तथा बहुत से प्रीमियम हैं। Premium Plagiarism checker Tools के प्रयोग करने के लिए आप उसे Purchase कर सकते हैं। वे अपने Users के लिए Trial Version तथा Word limit के साथ उपयोग करने की सुविधा प्रदान करते हैं। यहां कुछ Best Free तथा Premium Plagiarism Checker tools दिए गए हैं।

1. Duplicheker (Free)

यहां आप अधिकतम 1000 Words की आर्टिकल की जांच कर सकते हैं। यह वेबसाइट आपको यह भी बताता है कि आपका आर्टिकल कितना प्रतिशत original तथा Plagiarised है। तथा वह किस वेबसाइट सेे Match कर रहा है। यहां आप अपना Article URL, तथा .doc, .txt, .pdf file से भी Import कर सकते हैं या दिए गए बॉक्स में पूरा Article Paste कर सकते हैं।

2. Small seo tool (Free)

यह Plagiarism checker tool भी Duplichecker के जैसा ही है तथा यह भी Free है। यहां आप एक बार में 1000 Words Article की जांच कर सकते हैं। यहां आप अपना Article URL, Google Drive या Dropbox से भी Import कर सकते हैं या दिए गए बॉक्स में पूरा Article Paste कर सकते हैं। यहां भी आपको Percentage के साथ Unique तथा Duplicate Content दिखाया जाता है।

3. Quetext (Premium)

यह एक प्रीमियम Plagiarism Checker tool है। यह अपने यूजर्स को पहली बार के लिए 500 Words मुफ्त में Check करने की अनुमति देता है। यह Percentage के साथ यह बताता है कि आपके आर्टिकल का कौन कौन सा Sententce copied है तथा वह किस वेबसाईट से मैच कर रहा है।

Also Read: What is Affiliate Marketing in Hindi

Also Read: Permalink Kya Hai? What is Permalink in Hindi

-- विज्ञापन --

Also Read: Domain Authority Kya Hai? – हिंदी में पूरी जानकारी

Conclusion

तो दोस्तों, यहां पर आपने Plagiarism Kya Hai in Hindi के बारे में विस्तार से पढ़ा। यदि यह Article आपके लिए Helpful है तो आप इसे शेयर करना न भूलें। साथ ही अगर आपको Plagiarism से जुड़ी कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो हमें कमेंट करके बताएं।

-- विज्ञापन --
Share on:

Leave a Comment