White Hat SEO और Black Hat SEO क्या हैं?

-- विज्ञापन --

क्या आपने White Hat SEO और Black Hat SEO के बारे में सुना है? क्या आप जानना चाहते हैं की Black Hat SEO vs White Hat SEO क्या है? आपने Black Hat SEO और White Hat SEO के बारे में जरूर सुना होगा। इसका प्रयोग बड़े बड़े SEO Experts और Webmasters अपनी वेबसाइट को Google में Higher Ranking दिलाने के लिए करती है।

-- विज्ञापन --

यदि Black Hat SEO की बात की जाए तो यह Techniques हैं जिनका प्रयोग करके Search Engine के नियमों का उल्लंघन करते हुए किसी वेबसाइट के रैंकिंग को बढ़ाया जाता है। दूसरी ओर White Hat SEO ऐसा तकनीक है जिसके तहत वेबसाइट के रैंकिंग को Google के नियमों को ध्यान में रखते हुए बढ़ाया जाता है। आपने Movies में Hero तथा Villain का Role देखा होगा। वहां पर एक Hero होता है जो की सच्चाई के रास्ते पर चलता है और Villain होता है जिसे सच्चाई और नियम कानून से कोई मतलब नहीं होती, उसका मकसद सिर्फ सफल होना होता है। यहां पर भी Black Hat SEO Vs White Hat SEO का मतलब भी कुछ उसी तरह से है।

जैसा कि आप सभी जानते हैं की किसी भी वेबसाइट को Google में रैंक कराने के लिए हमें तरह तरह के तकनीकों का इस्तेमाल करना पड़ता है। गूगल हमेशा नया नया Algorithm को लॉन्च करके अपने Ranking System को Update करता है और इसके लिए जरूरी है कि हम भी अपने SEO Techniques में बदलाव करें ताकि Search Engine में हमारी वेबसाइटों के लिए जगह बना रहे।

WHITE HAT SEO VS BLACK HAT SEO
-- विज्ञापन --

आज इस पोस्ट में हम SEO के एक Specific Techniques के बारे में बात करेंगे जिसका नाम Black Hat SEO और White Hat SEO है। आज हम विस्तार से बताने वाले हैं की Black Hat SEO और White Hat SEO क्या है और इसमें इस्तेमाल होने वाले महत्वपूर्ण तकनीक कौन कौन से हैं।

Black Hat SEO Vs White Hat SEO क्या है?

Black Hat SEO एक ऐसा एसईओ तकनीक है जिसमें किसी वेबसाइट की Ranking और Authority को बेहतर बनाने के लिए अनैतिक कार्यों का सहारा लेते हैं। इसमें Google जैसे Search Engine द्वारा बनाए गए नियम कानून से दूर दूर तक कोई लेना देना नहीं होता है। इसके तहत केवल Search Engine को टारगेट करके वेबसाइट बनाया जाता है। इसमें यह मायने नहीं रखता की Website किसी यूजर के लिए फायदेमंद है या नहीं। Black Hat SEO Techniques सर्च इंजन द्वारा दंडनीय है। इसे Search Engine Algorithm द्वारा पकड़ा जा सकता है। यदि आप Search Engine के द्वारा बनाए गए नियमों का उल्लंघन करते हुए पकड़े गए तो आपको कठोर दण्ड मिल सकता है और हो सकता है की आपके वेबसाइट को हमेशा के लिए Search Engine से हटा दिया जाये। हम आपको Black Hat SEO Techniques का प्रयोग करने का बिल्कुल भी सलाह नहीं देंगे। हमारा उद्देश्य सिर्फ ज्ञान के लिए इन Techniques के बारे में बताना है।

दूसरी ओर यदि White Hat SEO की बात की जाए तो यह Black Hat SEO के जस्ट विपरीत है। White Hat SEO का उद्देश्य भी होता है Search Engine में किसी वेबसाइट के Ranking और Authority को Improve करना लेकिन इसमें Search Engine के द्वारा बनाए गए नियमों का ख्याल रखते हुए सारे कार्य किए जाते हैं। White Hat SEO का Search Engine से कोई खतरा नहीं होता। इसका उद्देश्य वेबसाईट को Search Engine तथा User दोनो के लिए बेहतर बनाना है। आपने ऑन पेज SEO तथा ऑफ पेज SEO का नाम सुना होगा, वे दोनों White Hat SEO के भाग हैं। White Hat SEO को Ethical SEO भी कहा जाता है क्योंकि इसमें वैसे SEO Practices शामिल हैं जिसे Search Engine द्वारा बनाए गए Rules के मद्देनजर रखते हुए अपनाए जाते हैं।

देखा जाय तो Black Hat SEO तकनीक का इस्तेमाल करना White Hat SEO तकनीक से आसान है लेकिन यदि आप पकड़े गए तो आपको Search Engine द्वारा दंडित किया जा सकता है। इसलिए हम कभी भी आपको Black Hat SEO का इस्तेमाल करने का सलाह नहीं देंगे।

Black Hat SEO Vs White Hat SEO में कौन सा एसईओ ज्यादा Effective है?

सीधी तौर पर देखा जाय तो Black Hat SEO तकनीक का इस्तेमाल करके बहुत कम समय में अपने वेबसाईट को Higher Ranking दिलाई जा सकती है लेकिन यह कहना मुश्किल है की आपके द्वारा उपयोग की गई तकनीक कब तक चलेगी। इस प्रकार देखा जाय तो Black Hat SEO ज्यादा Effective है लेकिन इसका इस्तेमाल कम समय के लिए किया जा सकता है, क्योंकि ऐसी तकनीक का इस्तेमाल करके आप हमेशा Search Engine के नजर में महान बनकर बैठे रहें ऐसा संभव नहीं है। आज Search Engine भी काफी Smart है और इस तरह के अनैतिक कार्यों को देखकर आपके वेबसाइट को तुरंत Search Engine Result Pages से हटा देगा।

दूसरी ओर White Hat SEO का इस्तेमाल लंबे समय तक तथा लंबे समय के लिए किया जा सकता है। क्योंकि Black Hat SEO के लिए Search Engine से कोई Penalty नहीं देना पड़ता तथा इसमें प्रयोग किए गए Techniques सर्च इंजन तथा Users दोनों के लिए लागू होते हैं। दोनों के Effectiveness में बस इतना ही अंतर है की Black Hat SEO का इस्तेमाल करके आप कम समय में सफलता प्राप्त कर सकते हैं लेकिन यह तकनीक हमेशा के लिए काम नहीं करेगी। और White Hat SEO लंबे समय तक कारगर है।

Black Hat SEO में इस्तेमाल होने वाले तकनीक

जैसा कि मैंने पहले बताया Black Hat SEO का इस्तेमाल करके, SEO के नियमों का पालन किए बिना वेबसाइट को Search engine के पहले पेज पर रैंक कराया जाता है। ब्लैक हैट एसईओ के भीतर सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली तकनीकों के बारे में पूरी जानकारी नीचे दिया गया है-

Keyword Stuffing

Keyword Stuffing ब्लैक हैट SEO का सबसे बेहतरीन Techniques में से एक है। Search Engine में किसी पोस्ट को Targeted Keyword पर रैंक कराने के लिए एक ही Keyword का बार बार इस्तेमाल करना Keyword Stuffing कहलाता है। Keyword Stuffing का मतलब है उन जगहों पर भी कीवर्ड को ऐड करना जहां पर जरूरत न हो। ऐसे Content Search Engine में रैंक तो हो जाते हैं, क्योंकि इनमें Keyword Density अधिक होता है। परंतु ऐसे Content User के पढ़ने लायक नहीं होते। आर्टिकल के बीच बीच में Attrandum कीवर्ड यूजर्स को परेशान करते हैं।

Google का कहना है की वेबसाइट पर ऐसी पेज बनाएं जो यूजर के लिए फायदेमंद हो। ऐसा पेज न बनाएं जो Organic न दिखे और जो Users को परेशान करे। यदि आप Search Engine द्वारा Keyword Stuffing करते हुए पकड़े जाते हैं तो हो सकता है आपके वेबसाइट को हमेशा के लिए सर्च इंजन से बाहर कर दिया जाय। इसलिए सही Keyword Density के साथ क्वालिटी कंटेंट लिखने पर फोकस करें।

Paid Backlink भी एक Black Hat SEO Techniques है जिसका इस्तेमाल आज बड़ी बड़ी कंपनियां और SEO Experts द्वारा किया जा रहा है। यह तो आप भी जानते हैं की Backlink हमारे Website की Authority बढ़ाने और Ranking के लिए कितना लाभदायक है। लेकिन यदि आप Backlink की खरीद बिक्री करते हैं तो आपको दंडित किया जा सकता है।

Google तथा अन्य Search Engine, बैकलिंक के खरीद बिक्री के सीधा खिलाफ है। Google का कहना है की आप खुद से पैसे से अपने वेबसाईट के लिए Trust नहीं खरीद सकते, क्योंकि बैकलिंक किसी वेबसाइट के लिए Trust का एक रूप है। सर्च इंजन के अनुसार बैकलिंक खरीद या बिक्री करना Link का उल्लंघन है, और ऐसी गतिविधि के लिए आप कभी भी दंडित किए जा सकते हैं।

यदी आपने पैसे देकर अपने वेबसाईट के लिए Backlink खरीदा है तो इसे उस वेबसाइट के Owner से कहकर हटवा दें। यदि आप नहीं हटवा सकते तो आप Google Disavow Tool का इस्तेमाल कर सकते हैं। आपने जिस जिस वेबसाइट से बैकलिंक खरीदा है उसका एक लिस्ट बनाकर इस टूल में Submit कर दें। यदि आप ऐसा करते हैं तो Google आपके वेबसाइट के लिए Ranking का निर्धारण करते समय इन Backlink को Count नहीं करेगा।

Scrap Content

Scrap Content का मतलब है वेबसाईट पर ऐसा कंटेंट पब्लिश करना जिसका कोई Value नहीं है। यह बिल्कुल Black Hat SEO Techniques है क्योंकि आप भी जानते हैं की Google को Unique एंड fresh Content पसंद है। Scrap Content एक ऐसा कंटेंट होता है जिसे कोई अन्य वेबसाइट से कॉपी की गई हो या किसी Tool के माध्यम से Generate किया गया हो। इस तरह के अनैतिक गतिविधियों को खत्म करने के लिए Google के द्वारा 2011 में Google Panda Algorithm को लॉन्च किया गया। इस अपडेट के बाद Low Quality Content प्रयोग करने वाले साइटों को दंडित किया गया। जिससे उनके Traffic में तुरंत गिरावट आई।

यदि आप Website या Blog के लिए आर्टिकल को किसी अन्य जगहों से Copy करके Same to Same Publish कर रहे हैं या किसी टूल के माध्यम से Generate करके लिख रहे हैं तो ऐसा करने से बचें। ऐसा Content लिखें जो Users के लिए फायदेमंद हो और पढ़ने के लिए आसान हो। आर्टिकल में होने वाले Grammar Errors का विशेष ध्यान रखें।

Hidden Text

Hidden Text का मतलब है टेक्स्ट को छिपा कर लिखना। यह Black hat SEO technique keyword stuffing के जैसा ही है। ऐसा लोग इसलिए करते हैं की टेक्स्ट सिर्फ Search Engine के लिए विजिबल हो। लोग Text का Color वेबसाइट के बैकग्राउंड कलर से मिलान करके कीवर्ड का अत्यधिक उपयोग करते हैं। इसके अलावा वे, Text का Font Size छोटा करते हैं तथा Hidden Tag लगाकर अधिक Keyword का इस्तेमाल करते हैं। क्योंकि ऐसा करने से यह यूजर को दिखाई नही देता है, लेकिन Search Engine के लिए वह Text Visible होता है और वे ऐसे Text को भी Crawl करते है।

-- विज्ञापन --

ऐसा करना Search Engine के नियमों के खिलाफ है। यदि आप ऐसा करते हैं तो आप कुछ समय के लिए तो Search Engine में बेहतर Ranking पा सकते हैं लेकिन बाद में आप आसानी से पकड़े जा सकते हैं। आप किसी भी तरीके से Text को Users से Hide कर लें लेकिन कई Advance Users तथा Website Developer आपको ऐसा करते हुए पकड़ सकते हैं और आपके वेबसाइट को Report कर सकते हैं। इसलिए ऐसा कार्य करने से बचे अन्यथा आपको दंडित किया जा सकता है।

Link Farming

Link Farming भी एक Black Hat SEO Techniques है जिसके अंतर्गत सिर्फ Backlink प्राप्त करने के उद्देश्य से वेबसाइट बनाया जाता है। उदाहरण के तौर पर मान लीजिए कि आपने 10 Website बनाई और बारी बारी से एक दूसरे वेबसाइट के लिंक सभी वेबसाइटों में Add कर दिए। ऐसा करने से आपके वेबसाइट को 10 Website से Backlink मिल गया। कई लोग सिर्फ एक website को Backlink देने के लिए भी कई वेबसाइट बना लेते हैं।

Link Farming के लिए बनाई जाने वाली Website में अधिकतर Low Quality Content होती है और प्रत्येक आर्टिकल में बहुत सारे Outbound Links होते हैं। लेकिन Backlink प्राप्त करने के ऐसे तरीकों को Spam माना गया है। यदि आप अनैतिक कार्य करके Backlink बनाते हैं तो आपको Search Engine द्वारा दंडित किया जा सकता है।

Doorway Page

Doorway Page एक Black Hat SEO Technique है। Doorway Page को Low Quality वाले Pages के रूप में परिभाषित किया गया है, जो User और Content के बीच एक Door के रूप में कार्य करता है। इस पेज में यूजर के लिए किसी प्रकार की सही जानकारी नहीं होती। ऐसा पेज सिर्फ Search Engine के लिए बनाया जाता है। ऐसे पोस्ट में एक Javascript लगा होता है जिससे User इसपर आते ही किसी अन्य Page पर Redirect हो जाते हैं।

Search Engine के नजर में Doorway Page जैसे Black Hat SEO Techniques का इस्तेमाल करना सीधा नियम के खिलाफ है। यदि आप ऐसा करते हैं तो आपको दंडित किया जा सकता है।

White Hat SEO में इस्तेमाल होने वाले तकनीक

जैसा कि मैंने पहले बताया White Hat SEO मूल रूप से Search Engine के सभी नियमों का पालन करता है। इन सिद्धांतों में सबसे महत्वपूर्ण है “लोगों के लाभ के लिए अपनी वेबसाइट बनाना, न कि सर्च इंजनों के लिए”। Keyword Research, Backlink, Link Popularity, Link Building आदि महत्त्वपूर्ण White Hat SEO Techniques हैं। आइए White Hat SEO Techniques के बारे में विस्तार से जानते हैं।

Keyword Research

Keyword Research सबसे प्रमुख SEO Techniques में से एक है। कीवर्ड रिसर्च किए बिना और इसे उचित रूप से उपयोग किए बिना, Search Engine पर अच्छी तरह से रैंक करने वाला Article तैयार करना असंभव है। Keyword Research करते समय, यह ध्यान देना जरूरी है की User क्या सर्च करते हैं और उन्हें किस तरह की जानकारी की जरूरत है।  उसके बाद उन Keyword को अपने लिखे जाने वाले पोस्ट में इस्तेमाल करें। यह एक White Hat SEO Techniques है जिसके लिए आपको कोई दंडित नहीं कर सकता। यह Search Engine में अपने वेबसाईट को रैंक करवाने का Legal तरीका है।

Quality Content

Keyword Research में पाए गए कीवर्ड का उपयोग करके, एक बेहतर आर्टिकल लिखें जिसमें User की सारी Queries सॉल्व हो जाय। ध्यान रखें की Content खुद से लिखें। किसी अन्य श्रोत से अथवा किसी टूल्स के माध्यम से Generate की गई आर्टिकल Low Quality कहलाती है, तो ऐसा न करें। पोस्ट में जरूरत के अनुसार Keyword को Bold, Italic, Underline करें तथा इसके बीच में अन्य पोस्ट का लिंक डालें। इसमें Image तथा Video भी Add करें ताकि User को टॉपिक आसानी से समझ में आ जाय। इसके अलावा ध्यान रखें की इसमें कोई Grammar Mistakes न हो। इसके अलावा Paragraph को छोटा और सिंपल रखें। उचित Headings और Subheadings का इस्तेमाल करेंगे तो इस प्रकार एक Quality Content तैयार होता है। ऐसा करने से आपका पोस्ट सर्च इंजन में जरूर रैंक करेगा। और इसमें बताए गए सारे तरीके Legal हैं इसलिए आपको भविष्य में इसके Ranking Down होने की भी चिंता नहीं है।

Backlinks

आपकी वेबसाइट का URL अन्य वेबसाइटों के ब्लॉग पर Publish होने से हमें अपने वेबसाईट के लिए एक Backlink प्राप्त होता है। इससे Search Engine में वैबसाइट की Value बढ़ती है और Ranking अच्छी होती है। ऐसा तब होता है जब कोई वेबसाइट का Owner अपने लिए Article लिख रहा हो और उसमें आपके Website का लिंक डाले। लेकिन ऐसा तब संभव है जब आपकी साइट की रैंकिंग अच्छी होगी और आपकी वेबसाइट का Authority अच्छा होगा। तो अब आप सोचेंगे की Backlink कैसे प्राप्त करें।

आप दूसरे Website पर जाकर Comments, Forum, Guest Post आदि के माध्यम से अपने वेबसाईट का लिंक दे सकते हैं। आप वहां पर अपने वेबसाईट के होम पेज या किसी अन्य पेज का लिंक दे सकते हैं। यह White Hat SEO की श्रेणी में आता है। किसी भी साइट के महत्व और स्वीकृति को बढ़ाने के लिए बैक लिंक बहुत जरुरी है। लेकिन यह एक मतदान जैसा है। इसे बढ़ाने का कोई उपाय नहीं है।

On Page Optimization

Quality Content लिखना एकमात्र तरीका नहीं है जिससे किसी Keyword के लिए एक Blog Post Optimize हो जाय। Meta description, Header Tag, Title Tag और Image के लिए Alt Tag जैसे विभिन्न On Page SEO factor हैं जिनमें कीवर्ड को शामिल करके कीवर्ड को Target किया जाता है। इनमें से कुछ चीजें Page के बारे में Search Engine को संकेत भेजती हैं।

यदि आप सभी वेबसाइट कंटेंट और सभी Pages में Internal Linking करते हैं, तो यह भी एक अच्छी बात है क्योंकि इससे Visitors के लिए साइट पर नेविगेट करना आसान हो जाता है। और वे अपने जरूरत के अनुसार कोई भी पोस्ट पढ़ सकते हैं। आप Internal Link के Anchor Text में कीवर्ड का उपयोग कर सकते हैं और Page के बारे में Search Engine को और संकेत दे सकते हैं। सुनिश्चित करें कि आप जिस पेज से लिंक कर रहे हैं, उसके साथ जुड़े Anchor Text को रखें।

-- विज्ञापन --

Off Page Optimization

Off Page Optimization उन कारकों की ओर संकेत करता है जो आपकी वेबसाइट पर नहीं हैं लेकिन आपके वेबसाइट के लिए बहुत प्रभावशाली हैं। इसमें सभी Directory Submission और विभिन्न सोशल मीडिया पर वेबसाइट लिंक Share करना शामिल है। ये दोनों कार्यों से बहुत अच्छे परिणाम प्राप्त होते हैं। इसके अलावा Backlink भी Off Page Optimization का ही एक भाग है।

यदि आप इन White hat seo तकनीकों उपयोग करते हैं तो आपके वेबसाइट की रैंकिग जरूर Improve होगी। व्हाइट हैट एसईओ तकनीक थोड़ी परेशान करने वाली हो सकती है लेकिन भविष्य में आपकी वेबसाइट के लिए संतोषजनक परिणाम प्रदान करती है।

अंतिम शब्द,

आज इस पोस्ट में मैंने Black Hat SEO Vs White Hat SEO क्या है के बारे में बताया तथा आपने White Hat SEO Techniques Vs Black Hat SEO Techniques के बारे में भी जाना। आशा करता हूं आपके लिए यह जानकारी फायदेमंद होगी। यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें तथा यदि आपके पास Blog तथा Website से जुड़ा कोई सवाल है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

-- विज्ञापन --
Share on:

Leave a Comment